सोनू सूद के मुंबई वाले घर पर लगातार तीसरे दिन पहुंचे इनकम टैक्स विभाग के अधिकारी

सूत्रों के मुताबिक- आयकर विभाग सोनू सूद के लखनऊ की एक रियल एस्टेट कंपनी के साथ हुए संपत्ति सौदे की जांच कर रहा है, जिनका दावा किया कि सोनू सूद की कंपनी और लखनऊ की एक रियल एस्टेट फर्म के बीच हालिया सौदा जांच के दायरे में है.

सोनू सूद के मुंबई वाले घर पर लगातार तीसरे दिन पहुंचे इनकम टैक्स विभाग के अधिकारी

सोनू सूद के घर पर लगातार तीसरे दिन पहुंचे इनकम टैक्स विभाग के अधिकारी

नई दिल्ली:

अभिनेता सोनू सूद (Sonu Sood) के घर पर इनकम टैक्स विभाग के अधिकारी लगातार तीसरे दिन मौजूद हैं. शिवसेना और आम आदमी पार्टी दोनों ही इस छापेमारी की टाइमिंग पर सवाल उठा चुके हैं.बता दें कि 48 वर्षीय अभिनेता सोनू सूद ने कोरोना महामारी के दौरान लोगों की मदद करके काफी प्रशंसा हासिल की थी. हाल ही में सोनू सूद ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मुलाकात की थी.साथ ही वे दिल्ली सरकार के देश के मेंटॉर कार्यक्रम के ब्रांड अंबेसडर भी बने थे. दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने इस मामले पर ट्वीट भी किया था कि सच्चाई के रास्ते पर लाखों मुश्किलें आती हैं, लेकिन जीत हमेशा सच्चाई की होती है.सोनू सूद के साथ भारत के उन लाखों परिवारों की दुआएं हैं, जिन्हें मुश्किल घड़ी में सोनू सूद का साथ मिला था.


सूत्रों के मुताबिक- आयकर विभाग सोनू सूद के लखनऊ की एक रियल एस्टेट कंपनी के साथ हुए संपत्ति सौदे की जांच कर रहा है, जिनका दावा किया कि सोनू सूद की कंपनी और लखनऊ की एक रियल एस्टेट फर्म के बीच हालिया सौदा जांच के दायरे में है. इस सौदे पर कर चोरी के आरोपों पर ये आईटी अधिकारी पहुंचे. वैसे इसे आयकर सर्वे बोला जा रहा है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


नेता और सांसद संजय सिंह (Sanjay Singh) भी सोनू सूद के समर्थन में उतरे थे. उन्होंने कहा था कि मुझे यह जानकार हैरानी हो रही है कि जिस व्यक्ति ने कोरोना महामारी के दौरान दिन-रात लगाकर लोगों के लिए काम किया, लोगों की जान बचाने के लिए काम किया, अपने घर के सामान को गिरवी रखकर लोगों की मदद की, उसके घर में इनकम टैक्स के छापे मारे जा रहे हैं. आख‍िर आप संदेश क्या देना चाहते हैं. इस देश में जिस व्यक्त‍ि को सरकार को सम्मानित करना चाहिए, उसके यहां छापे पड़ रहे हैं.'उन्होंने कहा कि कोरोना काल में जिनकी सरकारों में गंगा नदी में लाशें तैरती रहीं, चील-कौवे उन्हें नोंचते नजर आए और जो आदमी दिन-रात लोगों के लिए काम कर रहा है, मदद कर रहा है, उसके यहां आप छापे डलवा रहे हैं. ये बहुत ही शर्मनाक घटना है और मोदी सरकार की जितनी भर्त्‍सना की जाए, कम है.