भारत के 'रहने के लिए बेहतर' शहरों की सूची में इस शहर ने मारी बाजी, Delhi टॉप टेन में नहीं

10 लाख से ज्यादा आबादी वाले रहने लायक की श्रेणी (livability index) में 49 शहरों का आकलन किया गया. इसमें श्रीनगर को सबसे आखिरी स्थान मिला. वहीं इससे कम आबादी वाले शहरों को भी मिलाकर 111 शहरों की समीक्षा की गई.

भारत के 'रहने के लिए बेहतर' शहरों की सूची में इस शहर ने मारी बाजी, Delhi टॉप टेन में नहीं

केंद्रीय आवास एवं शहरी मामलों के मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने यह इंडेक्स जारी किया

नई दिल्ली:

केंद्र सरकार ने देश के रहने लायक शहरों की सूची (Ease of Living Index) जारी की है. देश के रहने लायक शहरों में पहला स्थान बेंगलुरु (Bengaluru) को मिला है, जबकि पुणे, अहमदाबाद, चेन्नई, सूरत, पुणे, नवी मुंबई, कोयंबटूर, वडोदरा, इंदौर और ग्रेटर मुंबई को शीर्ष 10 शहरों की सूची में स्थान मिला है. हालांकि नई दिल्ली टॉप टेन में नहीं है, उसे 13वां स्थान मिला है.

10 लाख से ज्यादा आबादी वाले रहने लायक की श्रेणी में 49 शहरों का आकलन किया गया. इसमें श्रीनगर को सबसे आखिरी स्थान मिला. वहीं इससे कम आबादी वाले शहरों को भी मिलाकर 111 शहरों की समीक्षा की गई. गुरुवार को यह (Livability index) जारी किया गया. केंद्रीय आवास एवं शहरी मामलों के मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने यह इंडेक्स जारी किया. 10 लाख से कम आबादी वाले शहरों में शिमला ने पहला पायदान हासिल किया है.


नई दिल्ली नगरपालिका परिषद ने 10 लाख से कम आबादी की श्रेणी में ‘नगरपालिका प्रदर्शन सूचकांक' में पहला स्थान हासिल किया है. इंदौर ने 10 लाख से अधिक आबादी की श्रेणी में ‘नगरपालिका प्रदर्शन सूचकांक' में शीर्ष स्थान हासिल किया है. इंदौर नगर निगम (आईएमसी) की आयुक्त प्रतिभा पाल ने गुरुवार को कहा, ‘‘नगरपालिका प्रदर्शन सूचकांक में इंदौर के शीर्ष स्थान हासिल करने से हमारा हौसला बढ़ा है और हम बेहतर काम के लिए प्रेरित हुए हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


हम बुनियादी ढांचा क्षेत्र की कई अहम परियोजनाएं पर विशेष ध्यान दे रहे हैं। स्थानीय नागरिकों को अलग-अलग सेवाओं की सुविधाजनक आपूर्ति की दिशा में भी हमने अच्छा काम किया है। नगरपालिका प्रदर्शन सूचकांक की स्पर्धा में हमें इन कारकों का फायदा मिला.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)