जल्‍द ही उपलब्‍ध होंगी दोनों कोरोना वैक्‍सीन, टीकाकरण की तैयारियां पूरीं : डॉ. हर्षवर्धन

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने कहा‍ कि हमारे प्रयासों के खिलाफ देश में दुष्प्रचार चल रहा है या चल सकता है इस पर भी हमें ध्यान देना है कि कोई भी भ्रम फैलाने वाला प्रचार सफल नहीं हो.

जल्‍द ही उपलब्‍ध होंगी दोनों कोरोना वैक्‍सीन, टीकाकरण की तैयारियां पूरीं : डॉ. हर्षवर्धन

डॉ. हर्षवर्धन ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ बैठक की

खास बातें

  • डॉ.हर्षवर्धन ने की राज्‍य के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रियों के साथ बैठक
  • सबसे पहले हैल्‍थ वर्कर्स, फिर फ्रंटलाइन वर्कर्स को लगेगा टीका
  • टीका लगने के दुष्प्रभाव या प्रतिकूल घटनाएं पर रखी जाएगी नजर
नई दिल्‍ली:

Covid-19 vaccination: देश में कोरोना वैक्‍सीनेशन से पहले केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन (Health Minister Harsh Vardhan) ने गुरुवार को सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ बैठक की. इस मौके पर स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने कहा कि Covishield और Covaxin के रूप में दो वैक्सीन (COVID-19 vaccine) देश को उपलब्ध होने की स्थिति में आ गई हैं. सभी को एक साथ वैक्सीन नहीं लग सकती, इसलिए प्राथमिकता तय की गई है. हर्षवर्धन ने बताया कि सबसे पहले 1 करोड़ स्वास्थ्यकर्मी चाहे वह सरकारी हो या प्राइवेट, फिर 2 करोड़ फ्रंटलाइन वर्कर्स और इसके बाद 27 करोड़ 50 साल से ऊपर या पुरानी बीमारी वाले लोगों को टीका लगाया जाएगा. 

किसानों को COVID से सुरक्षा नहीं मिली, तो तबलीगी जमात जैसे हालात पैदा हो सकते हैं : CJI

उन्‍होंने कहा‍ कि 12 टीके हम लोग यूनिवर्सल इम्यूनाइजेशन प्रोग्राम के तहत लगाते हैं इसका हमें अनुभव है. कोल्ड चेन सिस्टम को मजबूत करने के लिए जो चीज हमको खरीदनी थी, हमने खरीदी है और पहले से मौजूद सिस्टम को मजबूत किया है. ट्रेनिंग का काम काफी हद तक पूरा हो गया है लेकिन अगर कहीं ट्रेनिंग का काम रह गया है तो उसको जल्द से जल्द पूरा कर लिया जाना चाहिए. 2.3 लाख हेल्थ फैसिलिटी का डेटा उपलब्ध हो चुका है. यूनिवर्सल इम्यूनाइजेशन प्रोग्राम के दौरान भी अगर कोई टीका लगाने से दुष्प्रभाव या प्रतिकूल घटनाएं होती हैं तो उसको हैंडल करने के लिए प्रोटोकॉल बने हुए हैं ठीक उसी तरह से कोविड वैक्सीन के लिए प्रोटोकॉल बनाए गए हैं जैसे कि टीका लगने के बाद आधा घंटे तक ऑब्जरवेशन रूम में ऑब्जर्व करना आदि.

एस्ट्राजेनेका ने कहा भारत में मंजूरी मिलने से दुनिया भर में कोरोना वैक्सीन की आपूर्ति में मिलेगी मदद

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने कहा‍ कि हमारे प्रयासों के खिलाफ देश में दुष्प्रचार चल रहा है या चल सकता है इस पर भी हमें ध्यान देना है कि कोई भी भ्रम फैलाने वाला प्रचार सफल नहीं हो. उन्‍होंने बताया कि 17 जनवरी को देश मे एक साथ मिलकर पोलियो की दो बूंद 5 साल से नीचे के सभी बच्चों को दी जाएगी ताकि पोलियो के खिलाफ हमारा इम्यूनिटी लेवल अच्छा बना रहे. 17 जनवरी को नेशनल इम्यूनाइजेशन डे (पोलियो वैक्सीन के चलते) होगा.सभी से अनुरोध है कि जिस तरह से कोविड वैक्सीन की तैयारी में लगे हैं ठीक उसी तरह से 17 जनवरी को पोलियो वैक्सीन के लिए भी तैयारी करें. कोविड टीकाकरण को भी हमने जन आंदोलन बनाना है जैसे पोलियो के खिलाफ हमने किया था.


कोविड-19 टीकाकरण से जुड़े हर सवाल का जवाब

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com