CBSE ने Microsoft संग साझेदारी कर स्कूलों में कोडिंग और डेटा साइंस कोर्स किया शुरू, शिक्षा मंत्री ने जताई खुशी

CBSE Join Hands with Microsoft: कोडिंग और डेटा साइंस पाठ्यक्रम क्रिटिकल थिंकिंग, कम्प्यूटेशनल स्किल्स, प्रोब्लम-सॉल्विंग स्किल्स, क्रिएटिविटी और नई टेक्नोलॉजी के प्रदर्शन के निर्माण पर केंद्रित हैं.

CBSE ने Microsoft संग साझेदारी कर स्कूलों में कोडिंग और डेटा साइंस कोर्स किया शुरू, शिक्षा मंत्री ने जताई खुशी

CBSE ने Microsoft संग साझेदारी कर स्कूलों में कोडिंग और डेटा साइंस कोर्स शुरू किया है.

नई दिल्ली:

CBSE Join Hands with Microsoft: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने 2021-2022 शैक्षणिक सत्र में कक्षा 6 से 8वीं के लिए कोडिंग और कक्षा 8वीं से 12वीं के लिए डेटा साइंस के पाठ्यक्रम को नए स्किल्स सब्जेक्ट के रूप में शुरू किया है. इसके लिए सीबीएसई ने माइक्रोसॉफ्ट के साथ हाथ मिलाया है. 

नई शिक्षा नीति (NEP 2020) को ध्यान में रखते हुए, छात्रों में स्किल्स का निर्माण करने के उद्देश्य से इन पाठ्यक्रमों को शुरू किया गया है.  कोडिंग और डेटा साइंस पाठ्यक्रम क्रिटिकल थिंकिंग, कम्प्यूटेशनल स्किल्स, प्रोब्लम-सॉल्विंग स्किल्स, क्रिएटिविटी और नई टेक्नोलॉजी के प्रदर्शन के निर्माण पर केंद्रित हैं.

शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने इस खास मौके पर कहा, "NEP2020 के तहत, हमने स्कूलों में कोडिंग और डेटा साइंस शुरू करने का वादा किया है. आज मुझे यह देखकर खुशी हो रही है कि सीबीएसई ने वर्ष 2021 के सत्र में ही वादे को पूरा किया है. माइक्रोसॉफ्ट के सहयोग से सीबीएसई भारत की नई पीढ़ियों को नए जमाने के स्किल्स के साथ सशक्त बना रहा है."


सीबीएसई के अध्यक्ष मनोज आहूजा ने कहा कि कोडिंग और डेटा साइंस पर नया पाठ्यक्रम छात्रों को भविष्य में स्किल्स सीखने के लिए तैयार करेगा. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


माइक्रोसॉफ्ट इंडिया के पब्लिक सेक्टर के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर नवतेज बल ने कहा, "कोडिंग और डेटा साइंस जैसे स्किल्स भविष्य की करंसी हैं. हम आज के छात्रों को कल की दुनिया बनाने के लिए सशक्त बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं और सीबीएसई के साथ हमारी साझेदारी उस दिशा में एक मजबूत कदम है."