Final Year Exams 2020: फाइनल ईयर एग्जाम पर SC ने UGC से मांगा जवाब, 31 जुलाई को अगली सुनवाई

Final Year Exams 2020: फाइनल ईयर एग्जाम को लेकर अंतिम फैसला नहीं हो पा रहा है. फाइनल ईयर एग्जाम के खिलाफ दायर याचिका पर आज सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई है.

Final Year Exams 2020: फाइनल ईयर एग्जाम पर SC ने UGC से मांगा जवाब,  31 जुलाई को अगली सुनवाई

प्रतीकात्मक तस्वीर

Final Year Exams 2020: फाइनल ईयर एग्जाम को लेकर अंतिम फैसला नहीं हो पा रहा है. फाइनल ईयर एग्जाम के खिलाफ दायर याचिका पर आज सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई है. सुप्रीम कोर्ट ने विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) से परीक्षा रद्द करने या स्थगित करने पर दो दिनों में जवाब मांगा है. वहीं, सुनवाई के दौरान UGC ने कोर्ट में कहा कि अधिकांश जगह परीक्षाएं हो चुकी हैं या होने वाली हैं. इस मसले पर अब सुप्रीम कोर्ट शुक्रवार यानी 31 जुलाई को सुनवाई करेगा. 

कोरोनावायरस महामारी के बीच यूजीसी (UGC) ने सभी विश्वविद्यालयों को फाइनल ईयर एग्जाम (University Final Year Exams) सितंबर के अंत तक कराने के लिए कहा है. यूजीसी के इस फैसले के खिलाफ महाराष्ट्र सरकार के मंत्री और शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाई है. देशभर के विभिन्न विश्वविद्यालयों के करीब 31 छात्रों ने भी सुप्रीम कोर्ट में याचिका देकर यूजीसी द्वारा 6 जुलाई को जारी की गई संशोधित गाइडलाइंस को रद्द करने की मांग की है. आज इस याचिका पर सुनवाई हुई है. 

UGC के फाइनल ईयर एग्जाम कराने के फैसले के खिलाफ छात्र, SC में याचिका दायर, क्या कैंसिल होंगी परीक्षाएं?

सुनवाई के दौरान युवा सेना की तरफ से कहा गया कि देश कें कोरोना के कारण स्थिति बिगड़ रही है और यह परीक्षा आयोजित करने के लिए अनुकूल नहीं है. वहीं, यूजीसी ने बताया कि कई जगह परीक्षा हो चुकी हैं या होने वाली हैं. यूजीसी ने अपनी संशोधित गाइडलाइंस में देश के सभी विश्वविद्यालयों से कहा है कि वे फाइनल ईयर की परीक्षाएं 30 सिंतबर से पहले करा लें. जबकि छात्रों ने अपनी याचिका में मांग की है कि फाइनल ईयर की परीक्षाएं रद्द होनी चाहिए और छात्रों का रिजल्ट उनके पूर्व के प्रदर्शन के आधार पर जारी किया जाना चाहिए.

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल केंद्र सरकार को चिट्ठी लिखकर एग्जाम रद्द करने की मांग कर चुके हैं. साथ ही कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने भी एग्जाम का विरोध किया है.

क्या हैं यूजीसी की रिवाइज्ड गाइडलाइंस?

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) ने रिवाइज्ड गाइडलाइंस में सभी यूनिवर्सिटी और कॉलेजों को फाइनल ईयर के स्टूडेंट्स के लिए सितंबर तक एग्जाम कराने के लिए कहा है. फाइनल ईयर के एग्जाम ऑनलाइन, ऑफलाइन या दोनों तरीकों से किए जा सकते हैं. यूजीसी की नई गाइडलाइंस में ये भी बताया गया है कि बैक-लॉग वाले छात्रों को एग्जाम देना अनिवार्य होगा. वहीं, अन्य जो स्टूडेंट्स सितंबर की परीक्षाओं में शामिल नहीं हो पाएंगे तो यूनिवर्सिटी उन स्टूडेंट्स के लिए बाद में स्पेशल परीक्षाएं कराएगी.