विज्ञापन
Story ProgressBack

College Admission 2024: कॉलेज में अब साल में दो बार होंगे एडमिशन, UGC ने दी मंजूरी, शैक्षणिक सत्र 2024-25 से यह नियम लागू

College Admission Twice A Year: स्टूडेंट के लिए एक बहुत अच्छी खबर है. अब देश में साल में दो बार बोर्ड परीक्षा ही नहीं कॉलेजों और उच्च शैक्षणिक संस्थानों में दो बार एडमिशन होंगे. यूजीसी अध्यक्ष (UGC Chairman) ने बताया कि भारतीय विश्वविद्यालयों और उच्च शिक्षा संस्थानों को अब विदेशी विश्वविद्यालयों में साल में दो बार प्रवेश देने की अनुमति होगी.

Read Time: 4 mins
College Admission 2024: कॉलेज में अब साल में दो बार होंगे एडमिशन, UGC ने दी मंजूरी, शैक्षणिक सत्र 2024-25 से यह नियम लागू
भारतीय विश्वविद्यालयों में अब साल में दो बार होंगे एडमिशन
नई दिल्ली:

Indian universities and higher educational institutions to give admission twice a year: भारतीय विश्वविद्यालयों (Indian universities) और उच्च शिक्षण संस्थानों (higher educational institutions) को अब विदेशी विश्वविद्यालयों की तर्ज पर साल में दो बार प्रवेश (twice a year Admission) देने की अनुमति होगी. यूजीसी अध्यक्ष एम जगदीश कुमार (M.Jagdish kumar) ने यह जानकारी दी. यूजीसी अध्यक्ष (UGC Chairman) ने बताया कि भारतीय विश्वविद्यालयों और उच्च शिक्षा संस्थानों को अब विदेशी विश्वविद्यालयों में साल में दो बार प्रवेश देने की अनुमति होगी, यूजीसी ने इस योजना को हरी झंडी दे दी है. शैक्षणिक सत्र 2024-25 के जुलाई-अगस्त और जनवरी-फरवरी में दो बार प्रवेश प्रक्रिया शुरू की जाएगी. कुमार ने ‘पीटीआई-भाषा' से कहा, ‘‘यदि भारतीय विश्वविद्यालय वर्ष में दो बार प्रवेश दे सकें, तो इससे कई छात्रों को लाभ होगा, जैसे कि वे छात्र जो बोर्ड परीक्षा के परिणामों की घोषणा में देरी, स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं या व्यक्तिगत कारणों से जुलाई-अगस्त सत्र में किसी विश्वविद्यालय में प्रवेश लेने से चूक गएं.''

CBSE बोर्ड ने स्टूडेंट्स को फिर चेताया, भ्रामक जानकारी देने वाले वेबसाइट्स और ऑनलाइन पोर्टल से दूर रहें 

रोजगार के अवसर बेहतर होंगे

उन्होंने कहा, ‘‘साल में दो बार विश्वविद्यालयों में प्रवेश से छात्रों को प्रेरणा बनाए रखने में मदद मिलेगी क्योंकि यदि वे वर्तमान सत्र में प्रवेश से चूक जाते हैं तो उन्हें प्रवेश पाने के लिए एक पूरा वर्ष इंतजार नहीं करना पड़ेगा. साल में दो बार प्रवेश के साथ, उद्योग जगत के लोग भी वर्ष में दो बार अपने ‘कैंपस' चयन की प्रक्रिया संचालित कर सकते हैं, जिससे स्नातकों के लिए रोजगार के अवसर बेहतर होंगे.''

साल में दो बार प्रवेश 

यूजीसी प्रमुख ने बताया कि साल में दो बार प्रवेश से उच्च शिक्षण संस्थानों (एचईआई) को अपने संसाधन वितरण, जैसे संकाय, प्रयोगशाला, कक्षाएं और सहायक सेवाओं की योजना अधिक कुशलतापूर्वक बनाने में मदद मिलेगी, जिसके परिणामस्वरूप विश्वविद्यालय के भीतर सुगमता से कामकाज होगा.

NIOS कक्षा 10वीं, 12वीं पब्लिक एग्जाम के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू, साल के अंत में होंगी परीक्षाएं 

दुनियाभर में द्विवार्षिक प्रवेश प्रणाली 

कुमार ने कहा, ‘‘दुनियाभर के विश्वविद्यालय पहले से ही द्विवार्षिक प्रवेश प्रणाली का पालन कर रहे हैं. यदि भारतीय उच्च शिक्षा संस्थान द्विवार्षिक प्रवेश चक्र को अपनाते हैं, तो हमारे उच्च शिक्षा संस्थान अपने अंतरराष्ट्रीय सहयोग और छात्र आदान-प्रदान को बढ़ा सकते हैं. परिणामस्वरूप, हमारी वैश्विक प्रतिस्पर्धा में सुधार होगा और हम वैश्विक शैक्षिक मानकों के अनुरूप होंगे.'' उन्होंने कहा, ‘‘यदि उच्च शिक्षा संस्थान द्विवार्षिक प्रवेश को अपनाते हैं, तो उन्हें प्रशासनिक पेचीदगियों, उपलब्ध संसाधनों के बेहतर उपयोग के लिए अच्छी योजना बनाने तथा वर्ष के अलग-अलग समय में प्रवेश पाने वाले छात्रों के साथ सुचारु तरीके से तालमेल बैठाने के लिए निर्बाध सहायता प्रणाली प्रदान करनी होगी. उच्च शिक्षा संस्थान द्विवार्षिक प्रवेश की उपयोगिता को तभी अधिकतम कर सकते हैं, जब वे संकाय सदस्यों, कर्मचारियों और छात्रों को बदलाव के लिए पर्याप्त रूप से तैयार करें.''

MHT CET Result 2024: महाराष्ट्र कॉमन एंट्रेंस टेस्ट रिजल्ट की तारीख रीवाइज्ड, नतीजे इस तारीख तक

विश्वविद्यालय बांध्य नहीं होंगे

कुमार ने हालांकि स्पष्ट किया कि विश्वविद्यालयों के लिए साल में दो बार प्रवेश देना अनिवार्य नहीं होगा और जिन उच्च शिक्षण संस्थानों के पास आवश्यक ढांचा और शिक्षक संकाय है, वे इस अवसर का लाभ उठा सकते हैं. उन्होंने कहा, ‘‘उच्च शिक्षण संस्थानों के लिए द्विवार्षिक प्रवेश देना अनिवार्य नहीं होगा, यह वह लचीलापन है जो यूजीसी उन उच्च शिक्षा संस्थानों को प्रदान करता है जो अपने छात्रों की संख्या बढ़ाना चाहते हैं और उभरते क्षेत्रों में नए कार्यक्रम पेश करना चाहते हैं. साल में दो बार छात्रों को प्रवेश देने में सक्षम होने के लिए, उच्च शिक्षा संस्थानों को अपने संस्थागत नियमों में उपयुक्त संशोधन करने होंगे.''

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
NEET परीक्षा में गड़बड़ी पर ज़िम्मेदारी से पल्ला नहीं झाड़ सकती NTA : NEET एजुकेटर प्रतीक जैन
College Admission 2024: कॉलेज में अब साल में दो बार होंगे एडमिशन, UGC ने दी मंजूरी, शैक्षणिक सत्र 2024-25 से यह नियम लागू
NEET 2024 की परीक्षा दोबारा होगी!, सुप्रीम कोर्ट ने NTA से मांगा जवाब, अपडेट्स
Next Article
NEET 2024 की परीक्षा दोबारा होगी!, सुप्रीम कोर्ट ने NTA से मांगा जवाब, अपडेट्स
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;