PM Modi की 'चाय वाली साजिश' पर बॉलीवुड डायरेक्टर ने कसा तंज, पूछा- रिहाना और मीना हैरिस को चाय पसंद है?

पीएम मोदी (PM Narendra Modi) ने अपने बयान में कहा था कि असम की चाय को विदेशों में बदनाम करने की साजिश रची जा रही है. इस मामले को लेकर कुणाल कोहली (Kunal Kohli) ने ट्वीट किया है, जो खूब वायरल हो रहा है.

PM Modi की 'चाय वाली साजिश' पर बॉलीवुड डायरेक्टर ने कसा तंज, पूछा- रिहाना और मीना हैरिस को चाय पसंद है?

पीएम मोदी (PM Narendra Modi) के चाय वाले बयान पर कुणाल कोहली (Kunal Kohli) ने किया ट्वीट

खास बातें

  • पीएम मोदी के 'चाय वाली साजिश' के बयान पर कुणाल कोहली ने किया ट्वीट
  • कुणाल कोहली ने कहा कि हमें वाकई इसके तह तक जाने की जरूरत है
  • कुणाल कोहली का ट्वीट खूब हो रहा है वायरल
नई दिल्ली:

पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने बीते सात फरवरी को असम (Assam) के सोनितपुर जिले के ढेकिआजुली में दो मेडिकल कॉलेजों का शिलान्यास किया और इस मौके पर ही उन्होंने बताया कि भारत और विशेष रूप से भारतीय चाय को खराब करने की इन दिनों साजिश रची जा रही है. पीएम नरेंद्र मोदी के इस बयान को लेकर बॉलीवुड के मशहूर डायरेक्टर कुणाल कोहली (Kunal Kohli)  ट्वीट किया है, जो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है. अपने ट्वीट में कुणाल कोहली ने लिखा कि हमें वाकई में इस मामले के तह तक जाने की आवश्यकता है. चलों यह खोजते हैं कि क्या रिहाना और मीना हैरिस को चाय पसंद है.

कुणाल कोहली (Kunal Kohli) के इस ट्वीट पर फैंस भी खूब कमेंट कर रहे हैं. अपने ट्वीट में कुणाल कोहली ने पीएम मोदी (PM Narendra Modi) के चाय वाले बयान पर रिएक्शन देते हुए लिखा, "हमें वाकई में इस मामले के तह तक जाने की आवश्यकता है. विदेशी ताकतें हमारी चाय को बदनाम कर रही हैं. चलो पता करते हैं कि क्या रिहाना और मीना हैरिस को चाय पसंद है. ग्रेटा थनबर्ग के बारे में क्या ख्याल है." कुणाल कोहली से पहले बॉलीवुड के मशहूर एक्टर प्रकाश राज ने भी पीएम मोदी के इस बयान पर ट्वीट किया था. उन्होंने लिखा, "हमेशा की तरह, केवल चाय की चर्चा..." 


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बता दें कि असम (Assam) पूरी दुनिया में चाय के लिए प्रसिद्ध है और सोनितपुर, जहां पीएम मोदी (PM Narendra Modi) ने सभा को संबोधित किया, वह  लाल चाय के लिए मशहूर है. पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा कि इस गौरव को धूमिल करने का षडयंत्र हो रहा है. उन्होंने पडयंत्र का विस्तार से जानकारी दिए बिना कहा, 'ऐसे दस्तावेज सामने आए हैं, जिनमें भारतीय चाय को बदनाम करने के लिए देश के बाहर षड्यंत्र रचे जाने की बात का खुलासा हुआ है. मुझे भरोसा है कि असम के चाय बागान कर्मी इन ताकतों को करारा जवाब देगा.'