रोहिणी कोर्ट शूटआउट: जेल में बैठकर हमले का 'LIVE UPDATE' ले रहा था गैंगस्टर टिल्लू

तिहाड़ जैसी अति संवेदनशील जेल के अंदर से एक गैंगस्टर पूरे शूटआउट को इंटरनेट कॉलिंग के जरिए प्लान कर रहा था. पल-पल की जानकारी लेता है और दिल्ली पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लगती. दिल्ली पुलिस इन फॉन कॉल्स को पहले ही पकड़ लेती तो ये शूटआउट रुक सकता था.

नई दिल्ली:

रोहिणी कोर्ट शूटआउट (Rohini Court Shootout) मामले में बड़ा खुलासा हुआ है. मंडोली जेल में बंद गैंगस्टर टिल्लू शूटआउट के पहले और शूटआउट के बाद लगातार सभी बदमाशों के संपर्क में था. सूत्रों के मुताबिक- गैंगस्टर टिल्लू तिहाड़ जेल के अंदर से बड़े आराम से बैठकर इंटरनेट कॉलिंग के जरिए शूटआउट में मारे गए दोनों बदमाशों से शूटआउट से पल-पल की जानकारी ले रहा था. जैसे कि वह कितनी देर में रोहिणी कोर्ट पहुंचेंगे, अभी कहां पहुंचे हैं. इसके बाद टिल्लू ने विनय और उमंग को भी इंटरनेट के जरिए फोन किया और कहा कि तुम लोग भी रोहिणी कोर्ट में मौजूद रहना और मुझे हालात बताते रहना. इसके बाद टिल्लू (Gangster Tillu) ने फिर शूटआउट से पहले उन दोनों बदमाशों को फोन किया और पूछा तुम कहां हो. जब टिल्लू को पता चला कि दोनों बदमाश कोर्ट रूम के अंदर जाकर बैठ गए हैं और पुलिस बल अंदर बाहर बहुत ज्यादा तैनात है, तब टिल्लू को लगा कि इनका बचना मुश्किल हो जाएगा.  इसके बाद टिल्लू ने फिर दो अन्य बदमाशों विनय और उमंग को फोन किया और कहा कि तुम अभी कहां हो. दोनों ने बताया हम कोर्ट की पार्किंग में हैं, टिल्लू ने कहा कि तुरंत यहां से भाग जाओ. यानी इस बात से साफ अंदाजा लगाया जा सकता है कि सुरक्षा में कितनी बड़ी चूक हुई है. 


तिहाड़ जैसी अति संवेदनशील जेल के अंदर से एक गैंगस्टर पूरे शूटआउट को इंटरनेट कॉलिंग के जरिए प्लान कर रहा था. पल-पल की जानकारी लेता है और दिल्ली पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लगती. टिल्लू ने जिस तरह लगातार इंटरनेट फोन का इस्तेमाल किया एक बार भी अगर वक्त रहे थे दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच स्पेशल सेल इन फोन कॉल को इंस्टसेप्ट  कर लेती तो ये शूटआउट शायद रुक सकता था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बता दें कि दिल्ली की रोहिणी कोर्ट के भीतर गोलीबारी की घटना को लेकर दिल्ली पुलिस ने गैंगस्टरों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है. सूत्रों के मुताबिक- दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल में इस मामले में दो बदमाशों को गिरफ्तार किया है. आरोपियों का नाम उमंग और विनय है. उमंग ने बताया है कि इस शूटआउट के लिए टिल्लू ने फोन पर निर्देश दिया था. उमंग ने मारे गए दोनों बदमाशों के लिए रोहिणी कोर्ट की रेकी भी की थी. विनय को भी उमंग ने ही अपने साथ इस साजिश में शामिल किया था. जैसे ही इन्हें पता चला कि हमलावर राहुल और जग्गा इस शूटआउट में मारे गए हैं ये दोनों यहां से फरार हो गए थे. हमलावरों को रोहिणी सेक्ट 28 में इन्होंने ही किराये के एक मकान में ठहरवाया था.  प्लान तो ये बनाया गया था कि शूटर कोर्ट रूम में जाएंगे और जितेंद्र गोगी को खत्म करके वापस कार में बैठकर फरार होंगे, लेकिन प्लान फेल हो गया. शूटआउट के बाद उमंग कार लेकर भाग गया. उमंग और विनय दोनों हैदरपुर के रहने वाले हैं. उमंग टिल्लू का साथी था.