पायलट के करीबी सूत्रों ने बताया - प्रियंका गांधी को पूरा पक्ष बताया, पार्टी ने समाधान की जगह कार्रवाई की, आगे की रणनीति अभी तय नहीं

राजस्थान में कांग्रेस के बागी विधायकों पर कार्रवाई की खबर के बाद सचिन पायलट के करीबी सूत्रों का कहना है कि पार्टी ने उनपर एकतरफा कार्रवाई की है. पायलट के करीबी सूत्रों ने NDTV से कहा कि 'हमने कांग्रेस पार्टी नहीं छोड़ी है. पार्टी की कार्रवाई एकतरफ़ा है.'

पायलट के करीबी सूत्रों ने बताया - प्रियंका गांधी को पूरा पक्ष बताया, पार्टी ने समाधान की जगह कार्रवाई की, आगे की रणनीति अभी तय नहीं

पायलट के करीबी सूत्रों ने लगाया आरोप- पार्टी ने की एकतरफा कार्रवाई. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • पायलट के करीबी सूत्रों का आरोप
  • पार्टी ने की एकतरफा कार्रवाई
  • कहा- आगे के कदम पर हो रहा विचार

सचिन पायलट (Sachin Pilot) सहित राजस्थान में कांग्रेस (Rajasthan Congress) के बागी विधायकों (Rebel MLAs) पर कार्रवाई की खबर के बाद पायलट के करीबी सूत्रों का कहना है कि पार्टी ने उनपर एकतरफा कार्रवाई की है. पायलट के करीबी सूत्रों ने NDTV से कहा कि 'हमने कांग्रेस पार्टी नहीं छोड़ी है. पार्टी की कार्रवाई एकतरफ़ा है.' इनका कहना है कि इन्होंने अपनी समस्या पार्टी के सामने रखी थी लेकिन समाधान के बजाय उनपर कार्रवाई की गई है. सूत्रों ने कहा, 'हमने प्रियंका गांधी को अपना पूरा पक्ष बता दिया. लेकिन किसी समाधान की जगह पार्टी ने कार्रवाई की.'

इनका कहना है कि उन्हें अभी अयोग्य ठहराने का नोटिस मिला नहीं है. आगे क्या कदम उठाना है, सवाल पर उनका कहना है, 'हमारी अगली रणनीति अभी तय नहीं है. अयोग्य ठहराने का नोटिस अभी मिला नहीं है. मिलेगा तो जवाब दिया जाएगा.'

बता दें कि कांग्रेस ने बुधवार को राज्य सरकार में अपने बागी विधायकों को खिलाफ कार्रवाई की प्रक्रिया शुरू कर दी है. पार्टी उनको अयोग्य साबित करने यानी विधानसभा में उनकी सदस्यता रद्द करने की मांग के साथ स्पीकर के पास पहुंची है, जिसके बाद स्पीकर ने इन विधायकों को नोटिस भेजा है. अनुमान है कि करीब 15 विधायकों पर कार्रवाई की जा रही है. इसमें खुद सचिन पायलट भी शामिल हैं.

मंगलवार को सचिन पायलट को पार्टी ने डिप्टी सीएम और राजस्थान कांग्रेस के अध्यक्ष के पद से हटा दिया था. उनके अलावा उनके समर्थन में उतरे दो मंत्रियों- रमेश मीणा और विश्वेंद्र सिंह से भी पद छीन लिया गया था. पायलट की ओर से दावा किया गया था कि उनके पास कम से कम 30 विधायकों का समर्थन है. लेकिन पायलट खेमे की ओर से सोमवार की रात एक वीडियो शेयर किया गया था, जिसमें 15 से 16 विधायक दिख रहे थे. 

पायलट खेमे की ओर से अभी साफ नहीं किया गया है कि उनका अगला कदम क्या होगा. हालांकि, पायलट ने बुधवार को एक बार फिर यह जरूर साफ किया कि उनकी योजना बीजेपी में शामिल होने की नहीं है. पायलट ने NDTV से कहा कि वो बीजेपी में शामिल नहीं हो रहे हैं. वो अभी भी कांग्रेस के सदस्य हैं. उन्होंने कहा, 'मैं बीजेपी में कभी नहीं जाऊंगा. मेरा नाम बीजेपी के साथ जोड़कर पार्टी लीडरशिप के सामने मेरी छवि खराब करने की कोशिश की जा रही है.' पायलट ने कहा कि वो आगे के कदमों पर विचार कर रहे हैं और उनका इच्छा राजस्थान की सेवा करने की है.

Video: BJP के साथ दिखाना छवि खराब करने की कोशिश: पायलट


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com