WTC Final: इन हालात में फाइनल में टीम विराट को खासी मुश्किल होगी, मोंटी पनेसर बोले

WTC Final: भारतीय टीम दो जून को इंग्लैंड पहुंचेगी और उसे अभ्यास के लिए 10 दिन से थोड़ा अधिक समय मिलेगा. दूसरी ओर, न्यूजीलैंड डब्ल्यूटीसी फाइनल से पहले इंग्लैंड के खिलाफ दो टेस्ट खेल रहा है और कई विशेषज्ञ इसे एक बड़े फायदे के रूप में देख रहे हैं, लेकिन पनेसर का मानना ​​है कि यह एक दोधारी तलवार की तरह हो सकता है.

WTC Final: इन हालात में फाइनल में टीम विराट को खासी  मुश्किल होगी, मोंटी पनेसर बोले

मोंटी पनेसर इन दिनों मीडिया में सक्रिय हैं

नयी दिल्ली:

कुछ महीने बाद अपने देश इंग्लैंड के खिलाफ खेले जाने वाली सीरीज और न्यूजीलैंड के खिलाफ अगले महीने विश्व टेस्ट चैपियनशिप फाइनल (World Test Champonship Final) से पहले मोंटी पनेसर (Monty Panesar) एकदम सक्रिय हो गए हैं और लगातार मीडिया में बोल रहे हैं. एक दिन पहले ही मोंटी ने कहा था कि क्यों भारत इंग्लैंड को 5-0 से हरा सकता है, तो अब उन्होंने वह वजह भी बता दी है, जिससे डब्ल्यूटीसी फाइनल में भारत को खासी परेशानी हो सकती है. अब मोंटी पनेसर (Monty Panesar) ने कहा है कि साउथम्प्टन के एजेस बाउल में विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) के फाइनल मे अगर परिस्थितियां तेज गेंदबाजों के अनुकूल रही तो फिर भारत के खिलाफ न्यूजीलैंड की टीम का पलड़ा भारी रहेगा. इंग्लैंड में इस समय बारिश और ठंड जैसा मौसम है और पनेसर ने कहा कि अगर 18 जून से शुरू होने वाले डब्ल्यूटीसी फाइनल से समय भी ऐसे हालात रहे तो न्यूजीलैंड को फायदा होगा.

संजय मांजरेकर ने चुनी श्रीलंका के खिलाफ भारत की संभावित T-20 प्लेइंग XI, 'पंड्या' और चहल को किया बाहर

पनेसर ने कहा, ‘इस समय काफी बारिश हो रही है. अगर मौसम ऐसा ही रहा तो भारत और न्यूजीलैंड के तेज गेंदबाजों के बीच दिलचस्प मुकाबला होगा. न्यूजीलैंड के बल्लेबाज स्विंग होती गेंद को भारतीय बल्लेबाजों से बेहतर खेलते हैं.' उन्होंने कहा, ‘ऐसे में यह देखना काफी दिलचस्प होगा कि टेस्ट मैच के दौरान गेंद स्विंग कर रही है या नहीं और भारतीय बल्लेबाज न्यूजीलैंड की तुलना में इसका सामना कैसे करते हैं.'

बल्लेबाज ने मचाया कोहराम, T-10 क्रिकेट में धमाल, 6 गेंद पर लगाए 6 छक्के..देखें Video

बायें हाथ के इस पूर्व स्पिनर ने कहा कि अगर साउथम्प्टन में उस समय मौसम साफ रहा और धूप खिली रही तो ऐसी परिस्थितियां भारत के लिए अधिक अनुकूल होंगी. पनेसर को यह भी उम्मीद जतायी कि आईसीसी (अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद) इस मुकाबले के लिए घसियाले पिच की जगह एक तटस्थ विकेट तैयार करेगा क्योंकि डब्ल्यूटीसी फाइनल को को पांच दिनी मैच के खेल के लिए एक अच्छा विज्ञापन माना जाएगा. उन्होंने कहा, ‘एजेस बाउल में जल निकासी (बारिश के बाद मैदान सूखने) की शानदार प्रणाली है. आम तौर पर आपको वहां अच्छा गर्म मौसम मिलता है. उम्मीद है कि यह मुकाबला चार या पूरे पांच दिनों तक चलेगा.' उन्होंने कहा, ‘‘ऐसी स्थिति में भारतीय टीम दो स्पिनरों (रविचंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा) और तीन तेज गेंदबाजों के साथ मैदान पर उतर सकती है. अगर मौसम साफ रहा तो भारत का पलड़ा भारी होगा. यह बहुत हद तक परिस्थितियों पर निर्भर करता है.'

आखिरकार युवराज का सालों का दर्द बाहर आया, बोले-अब तो यह अगले जन्म में होगा

भारतीय टीम दो जून को इंग्लैंड पहुंचेगी और उसे अभ्यास के लिए 10 दिन से थोड़ा अधिक समय मिलेगा. दूसरी ओर, न्यूजीलैंड डब्ल्यूटीसी फाइनल से पहले इंग्लैंड के खिलाफ दो टेस्ट खेल रहा है और कई विशेषज्ञ इसे एक बड़े फायदे के रूप में देख रहे हैं, लेकिन पनेसर का मानना ​​है कि यह एक दोधारी तलवार की तरह हो सकता है. उन्होंने कहा, ‘न्यूजीलैंड अगले दो टेस्ट मैचों में अच्छा प्रदर्शन करता हैं तो भारत के खिलाफ लय उनके पक्ष में हो सकती है. इंग्लैंड अगर उन्हें हरा देता है तो अचानक उनका आत्मविश्वास कम होने लगेगा और यह भारत के लिए अच्छा हो सकता है.'

उन्होंने कहा, ‘जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड आमतौर पर साल के इस समय (सत्र की शुरूआत में) बहुत प्रभावी होते हैं, लेकिन इंग्लैंड ने कुछ प्रमुख खिलाड़ियों की अनुपस्थिति में एक बी टीम (न्यूजीलैंड श्रृंखला के लिए) चुनी गयी है, इसलिए हमें इंतजार करना होगा.' इस पूर्व वामहस्त स्पिनर को हालांकि लगता है कि तैयारी के लिए पर्याप्त समय नहीं मिलने के बावजूद ऑस्ट्रेलिया में जीत के बाद भारतीय टीम को किसी भी स्थिति से जीतने का विश्वास होगा. 

ये 4 बड़े दिग्गज जो अपने करियर में केवल एक टी-20 इंटरनेशनल मैच ही खेल पाए

पनेसर ने कहा, ‘अगर डब्ल्यूटीसी का फाइनल एक सप्ताह के अंदर (न्यूजीलैंड-इंग्लैंड श्रृंखला से पहले) होता तो मैं भारतीय टीम को जीत का दावेदार चुनता क्योंकि उन्होंने मुश्किल परिस्थितियों वाले मैच काफी अधिक खेले हैं. न्यूजीलैंड ने भी अच्छी क्रिकेट खेली है लेकिन उसने भारत जैसी मुश्किल जीत नहीं दर्ज की है. उन्होंने कहा, ‘जब आप काफी कठिन, बेहद मुश्किल परिस्थितियों से मैच जीतते है तो शीर्ष स्तर की टीम बनती है.'


VIDEO: कुछ महीने पहले मिनी ऑक्शन में कृष्णप्पा गौतम 9.25 करोड़ रुपये में बिके थे. ​

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com