Sonakshi Sinha ने किसान आंदोलन के समर्थन में पढ़ी कविता, बोलीं- ये तुम्हें दंगे वाले लगते हैं, अरे...

सोनाक्षी सिन्हा (Sonakshi Sinha) ने किसानों (Kisan Andolan) के समर्थन में कविता पढ़ी और इसी बीच कहा कि यह तुम्हें दंगे दिखाई देते हैं.

Sonakshi Sinha ने किसान आंदोलन के समर्थन में पढ़ी कविता, बोलीं- ये तुम्हें दंगे वाले लगते हैं, अरे...

सोनाक्षी सिन्हा (Sonakshi Sinha) ने किसानों के समर्थन में पढ़ी कविता

खास बातें

  • सोनाक्षी सिन्हा ने किसान आंदोलन के समर्थन में पड़ी कविता
  • एक्ट्रेस ने कहा कि ये तुम्हें दंगे वाले लगते हैं...
  • सोनाक्षी सिन्हा का वीडियो खूब हो रहा है वायरल
नई दिल्‍ली:

केंद्र सरकार द्वारा पारित तीन कृषि कानूनों (Farm Laws) का किसान लंबे समय से विरोध कर रहे हैं. वह लंबे समय से दिल्ली से सटे बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे हैं. किसान आंदोलन (Kisan Andolan) को भारतीय कलाकारों के साथ-साथ विदेशी कलाकारों ने भी समर्थन दिया. वहीं, हाल ही में बॉलीवुड की मशहूर एक्ट्रेस सोनाक्षी सिन्हा (Sonakshi Sinha) भी किसानों का समर्थन करती हुई नजर आईं. उन्होंने किसानों के समर्थन में कविता पढ़ी और इसी बीच कहा कि यह तुम्हें दंगे दिखाई देते हैं. सोनाक्षी सिन्हा (Sonakshi Sinha) द्वारा किसान आंदोलन के समर्थन में शेयर किया गया यह वीडियो खूब सुर्खियां बटोर रहा है, साथ ही इसे अभी तक सात लाख से भी ज्यादा बार देखा जा चुका है.

सोनाक्षी सिन्हा (Sonakshi Sinha) ने अपने इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखा, "नजर मिलाके, खुद से पूछो: क्यों? वरद भटनागर की लिखी हुई यह कविता उन अन्नदाताओं के प्रति सम्मान है जो हमें खिलाते हैं. इसे शूट और इसकी संकल्पना गुरसंजम पूरी ने की है और इसे मैं पढ़ रही हूं." अपने वीडियो में सोनाक्षी सिन्हा कहती हैं, "क्यों हम सड़कों पर उतर आए हैं. खेत खलिहान के मंदिर छोड़ क्यों बंजर शहर में चले आए हैं. ये माटी, हसिया दराती वाले हाथ, क्यों हमने राजनीति में सनवाए हैं. दही मक्खन और गुड़ वाले ने क्यों इरादे मशालों से सुलगाए हैं. बूढ़ी आंखों और नन्हे कदमों ने क्यों ये दंगे भड़काए हैं. ये तुम्हें दंगे वाले लगते हैं."


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


सोनाक्षी सिन्हा (Sonakshi Sinha) ने कविता में आगे कहा, "ये तुम्हें दंगे वाले दिखाई देते हैं. अपने ही हिस्से की रोटी खाना जायज नहीं है, क्यों? मक्के दी रोटी, सरसों दा साग के बड़े चटकारे लेते हो और अब उन्हीं के लिए यह सब करना ठीक नहीं है, क्यों. नजर मिलाकर खुद से पूछो, क्यों?" सोनाक्षी सिन्हा द्वारा पढ़ी गई ये कविता वरद भटनागर ने लिखी थी और इस वीडियो को गुरसंजम सिंह पुरी ने शूट और संकल्पना दी थी. सोनाक्षी सिन्हा के इस वीडियो को लेकर फैंस भी खूब कमेंट कर रहे हैं, साथ ही उनकी जमकर तारीफें भी कर रहे हैं.