नोबल पुरस्कार विजेता Malala Yousafzai ने किया निकाह, यहां जानें कौन हैं मलाला के शौहर और क्या करते हैं

Malala Yousafzai Husband: नोबल शांति पुरस्‍कार विजेता मलाला यूसुफजई (Malala Yousafzai) ने ब्रिटेन में निकाह रचा लिया है, उन्होंने ब्रिटेन के बर्मिंघम स्थित अपने घर पर परिवार की मौजूदगी में असर मलिक (Asser Malik) के साथ निकाह किया. यहां जानें कौन हैं उनके शौहर.

नोबल पुरस्कार विजेता Malala Yousafzai ने किया निकाह, यहां जानें कौन हैं मलाला के शौहर और क्या करते हैं

नोबल पुरस्कार विजेता Malala Yousafzai ने किया निकाह, जानें कौन हैं शौहर

नई दिल्ली:

नोबेल पुरस्कार विजेता और शिक्षा कार्यकर्ता मलाला यूसुफजई ने बर्मिंघम में एक छोटे से समारोह में शादी कर ली है और उन्होंने इसे अपने जीवन में एक "कीमती" दिन करार दिया. मलाला यूसुफजई (Malala Yousafzai) ने ब्रिटेन में निकाह रचा लिया है, उन्होंने ब्रिटेन के बर्मिंघम स्थित अपने घर पर परिवार की मौजूदगी में असर मलिक  (Asser Malik) के साथ निकाह किया. नोबेल पुरस्कार विजेता ने अपने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल पर शेयर की गई तस्वीरों में मलाला और उनके पति असर मलिक काफी खुश नजर आ रहे हैं. बता दें कि मलाला को साल 2014 में नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित किया गया था. उस वक्त वह केवल 17 साल की थीं. आइए हम आपको बताते हैं कि मलाला के पति कौन हैं और क्या करते हैं.

q3eet3t

एक ओर जहां मलाला यूसुफजई (Malala Yousafzai) दुनिया भर में एक्टिविस्ट के तौर पर जानी जाती हैं, वहीं दूसरी ओर उनके पति असर मलिक  (Asser Malik) खेल जगत में काम करते हैं.

fgheh0d8

असर मलिक के लिंक्डइन पेज के अनुसार, वह पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (Pakistan Cricket Board-PCB) में हाई परफॉर्मेंस जनरल मैनेजर हैं. मई 2020 में उन्‍होंने यहां ज्‍वाइन किया था. उन्होंने अपने इंस्टाग्राम पर अलग-अलग क्रिकेट आयोजनों की कई तस्वीरें भी शेयर की हुई हैं.

q9amka2o

इससे पहले असर मलिक  (Asser Malik) पाकिस्‍तान सुपर लीग के लिए काम करते थे. मलिक ने एक प्‍लेयर मैनेजमेंट एजेंसी का संचालन भी किया है.

koslfo68

बता दें कि असर मलिक  (Asser Malik) ने लाहौर यूनिवर्सिटी ऑफ मैनेजमेंट साइंसेज  (LUMS) से 2012 में इकोनॉमिक्‍स और पॉलिटिकल साइंस में बैचलर्स डिग्री ली है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बता दें कि तालिबानियों ने नौ अक्टूबर 2012 को लड़कियों की शिक्षा और शांति के लिए आवाज पर मलाला यूसुफजई (Malala Yousafzai)  को गोली मार दी थी, तालिबानी आतंकी उस बस पर सवार हो गए, जिसमें मलाला अपने साथियों के साथ स्कूल जा रही थीं. इसके बाद साल 2014 में मलाला को शांति का नोबेल पुरस्कार मिला था.