डीयू स्पेशल कटऑफ जारी करेगा, जानिए किसको मिल सकता है एडमिशन

दिल्ली यूनिवर्सिटी के तहत कॉलेजों (DU Colleges) में एडमिशन का अवसर 12वीं के पर्सेंटेज के आधार पर मिलेगा. अब तक 58,000 ने प्रवेश ले लिया है. डीयू के पास अंडर ग्रेजुएट कोर्स के लिए 70 हजार के करीब सीटें हैं.

डीयू स्पेशल कटऑफ जारी करेगा, जानिए किसको मिल सकता है एडमिशन

DU admission 2021:  दिल्ली यूनिवर्सिटी में अब तक 58 हजार छात्रों का प्रवेश हो चुका है. 

नई दिल्ली:

दिल्ली यूनिवर्सिटी अंडरग्रेजुएट कोर्सेस (Delhi University undergraduate courses) के लिए स्पेशल कटऑफ लिस्ट जारी करेगा. यह अभी तक दाखिला न पाने वाले छात्रों के लिए एक और मौका हो सकता है. डीयू ये लिस्ट https://admission.uod.ac.in पर जारी करेगा. छात्र स्पेशल कटऑफ (special cut off) के तहत 26 और 27 अक्टूबर को एडमिशन के लिए आवेदन कर सकते हैं. DU UG Admission: दिल्ली विश्वविद्यालय कटऑफ लिस्ट जारी करेगा.डीयू पहले कह चुका है कि तीसरे दौर की कटऑफ लिस्ट के बाद जब सीटें खाली रहेंगी तभी ये स्पेशल कटऑफ लिस्ट जारी की जाएगी.

DU Cut off List 2021: स्टेट बोर्ड के विषयों को शामिल करने के लिए जारी हुए जरूरी दिशानिर्देश

अंडर ग्रेजुएट कोर्स के तहत अकादमिक सत्र 2021-22 (academic session 2021-22) में मेरिट आधारित एडमिशन के लिए, यूनिवर्सिटी अधिकतम 5 कटऑफ जारी कर सकती है. जबकि तीसरी कट-ऑफ लिस्ट के बाद स्पेशल कटऑफ जारी की जा सकती है. अगर सीटें खाली रह जाती हैं तो विशेष अभियान के तहत प्रवेश लिए जा सकते हैं. दिल्ली यूनिवर्सिटी ने इससे पहले बयान में कहा था कि 5 कटऑफ और एक स्पेशल कट ऑफ या स्पेशल ड्राइव के तहत विश्वविद्यालय प्रवेश के लिए प्रक्रिया शुरू कर सकता है.


 एडमिशन डेटा के अनुसार, दिल्ली यूनिवर्सिटी (Delhi University) को अब तक 1,70,186 आवेदन मिले हैं और अब तक 58,000 ने प्रवेश ले लिया है. डीयू के पास अंडर ग्रेजुएट कोर्स के लिए 70 हजार के करीब सीटें हैं. ये स्पेशल कट ऑफ उन लोगों के लिए होगी, जो इससे पहले के दौर में एडमिशन के लिए पात्र थे, लेकिन किन्हीं कारणों से प्रवेश नहीं ले सके. स्पेशल कट ऑफ को उस कॉलेज के संबंधित पाठ्यक्रमों के लिए प्रवेश की आखिरी प्रक्रिया माना जाता है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


मान लीजिए किसी कॉलेज में बीएससी ऑनर्स मैथमैटिक्स की पहली कटऑफ  98 फीसदी थी और कॉलेज ने दूसरी और तीसरी कटऑफ जारी नहीं की है. लेकिन बाद में किसी कारण से कोई सीट खाली रह जाती है तो उस विषय में 98 फीसदी की स्पेशल कटऑफ के तहत एडमिशन पाया जा सकता है. हालांकि स्पेशल कट ऑफ के तहत छात्र एक कॉलेज की जगह दूसरी कॉलेज का विकल्प नहीं चुन सकते.