जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय ने कैंपस में लगाया नाइट कर्फ्यू , छात्रों से की ये खास अपील

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के सर्कुलर के अनुसार 27 दिसंबर से कर्फ्यू लागू हो रहा है. जो कि रात 11 बजे से सुबह 5 बजे तक लगेगा. इस दौरान परिसर में घूमने की अनुमति किसी को नहीं होगी.

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय ने कैंपस में लगाया नाइट कर्फ्यू , छात्रों से की ये खास अपील

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय कैंपस में लगा नाइट कर्फ्यू

नई दिल्ली:

कोरोना वायरस को लेकर दिल्ली सरकार द्वारा जारी किए दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (Jawaharlal Nehru University) ने अपने परिसर में कर्फ्यू लगा दिया है और एक सर्कुलर जारी कर छात्रों व अन्य लोगों से अपील की है कि वो कर्फ्यू का पालन करें. जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के सर्कुलर के अनुसार 27 दिसंबर से कर्फ्यू लागू हो रहा है. जो कि रात 11 बजे से सुबह 5 बजे तक लगेगा. इस दौरान परिसर में घूमने की अनुमति किसी को नहीं होगी. हालांकि आपातकालीन सेवाओं की आवाजाही पर कोई प्रतिबंध नहीं होगा. चिकित्सा आपातकाल और माल की आपूर्ति के लिए छात्र परिसर में आ जा सकेंगे.

इसके अलावा हवाई अड्डे, रेलवे स्टेशन, आईएसबीटी से आने व जाने वाले व्यक्ति वैध टिकट दिखाकर आ जा सकते हैं. आवश्यक खाद्य पदार्थ, किराने का सामान, फल ​​और सब्जियां, डायरी और दूध बूथ, फार्मास्यूटिकल्स और एटीएम से संबंधित दुकानों को खोलने की अनुमति रहेगी. जबकि कर्फ्यू के समय के दौरान अन्य सभी दुकानें, स्कूल कैंटीन और ढाबे बंद रहेंगे.

मास्क पहनकर रखना होगा

जेएनयू परिसर के अंदर कोविड नियमों का पालन हर किसी को करना होगा. फेस मास्क पहनकर रखना होगा और सामाजिक दूरी बनाए रखनी होगी. जेएनयू के सर्कुलर में कहा गया है, "कैंपस में रहने वालों को निर्देश दिया जाता है कि वे कर्फ्यू के समय कैंपस के भीतर न घूमें. आपातकालीन आवाजाही को छोड़कर कैंपस के गेट बंद रहेंगे."

ये भी पढ़ें- मुंबई में कोरोना के 1377 नए मामले, सोमवार की तुलना में करीब 70 फीसदी की बढ़ोतरी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


वहीं जो लोग कोविड दिशानिर्देशों का उल्लंघन करते हुए पाए जाएंगे उनके खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 की धारा 51 से 60, आईपीसी की धारा 188 और अन्य प्रावधानों के तहत कार्रवाई की जाएगी.