सरकार ने डीजल-ATF के निर्यात पर अप्रत्याशित लाभ कर बढ़ाया, घरेलू कच्चे तेल पर भी बढ़ा कर

सरकार ने चौथे पखवाड़े की समीक्षा में डीजल के निर्यात पर अप्रत्याशित लाभ कर को सात रुपये से बढ़ाकर 13.5 रुपये प्रति लीटर कर दिया.

सरकार ने डीजल-ATF के निर्यात पर अप्रत्याशित लाभ कर बढ़ाया, घरेलू कच्चे तेल पर भी बढ़ा कर

एविएशन टर्बाइन फ्यूल के निर्यात पर दो रुपये बढ़ाकर 9 रुपये प्रति लीटर कर दिया गया.

नयी दिल्ली:

सरकार ने डीजल के निर्यात पर अप्रत्याशित लाभ कर को बढ़ाकर 13.5 रुपये प्रति लीटर कर दिया है, जबकि विमानों के संचालन में इस्तेमाल होने वाले एटीएफ (एविएशन टर्बाइन फ्यूल) के निर्यात पर इसे बढ़ाकर नौ रुपये प्रति लीटर किया गया है. घरेलू उत्पादित कच्चे तेल पर भी शुल्क बढ़ा दिया है. वित्त मंत्रालय ने बुधवार को अधिसूचना जारी कर यह जानकारी दी.

अधिसूचना के अनुसार सरकार ने चौथे पखवाड़े की समीक्षा में डीजल के निर्यात पर अप्रत्याशित लाभ कर को सात रुपये से बढ़ाकर 13.5 रुपये प्रति लीटर कर दिया, जबकि एटीएफ (एविएशन टर्बाइन फ्यूल) के निर्यात पर इसे दो रुपये बढ़ाकर 9 रुपये प्रति लीटर कर दिया गया. सरकार ने घरेलू स्तर पर उत्पादित कच्चे तेल पर भी शुल्क 13000 रूपये प्रति टन 300 रुपये बढ़ाकर 13,300 रुपये कर दिया गया है.

ये भी पढ़ें-  Bank Holidays in September 2022: सितंबर में 13 दिन बैंक रहेंगे बंद, देखें लिस्ट

भारत ने पहली बार एक जुलाई को अप्रत्याशित लाभ कर लगाया था. इसी के साथ यह उन देशों में शामिल हो गया, जो ऊर्जा कंपनियों के सामान्य से अधिक मोटे मुनाफे पर अतिरिक्त कर लगाते हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: झारखंड : घरेलू सहायिका को प्रताड़ित करने की आरोपी नेता सीमा पात्रा गिरफ़्तार