Exclusive: कैंसर से जंग लड़ रहे जूनियर महमूद ने बताई थी आखिरी इच्छा, बोले- मैं मरूं तो दुनिया बोले कि बंदा अच्छा था बस

1970 के दशक में अपनी एक्टिंग और कॉमेडी से दर्शकों का मनोरंजन करने वाले एक्टर जूनियर महमूद का निधन हो गया है.

Exclusive: कैंसर से जंग लड़ रहे जूनियर महमूद ने बताई थी आखिरी इच्छा, बोले- मैं मरूं तो दुनिया बोले कि बंदा अच्छा था बस

कैंसर से जंग लड़ रहे जूनियर महमूद ने बताई आखिरी इच्छा

नई दिल्ली:

1970 के दशक में अपनी एक्टिंग और कॉमेडी से दर्शकों का मनोरंजन करने वाले एक्टर जूनियर महमूद का 67 साल की उम्र में निधन हो गया है. वह बीते काफी मुश्किल दिनों का सामना कर रहे थे. वह पेट के कैंसर से जूझ रहे थे. उन्हें चौथी स्टेज का कैंसर था, जिसके चलते जूनियर महमूद अस्पताल में भर्ती थे, कुछ दिन पहले ही उन्हें अस्पताल से घर लाया गया. इसके बाद से बॉलीवुड सितारे उनके घर पर मिले. हाल ही में  जितेंद्र ने जूनियर महमूद से उनके घर जा कर मुलाकात की. वहीं उनसे दिग्गज एक्टर और कॉमेडियन जॉनी लीवर ने भी मुलाकात की.

अस्पताल से घर जाते समय जूनियर महमूद ने एनडीटीवी से बातचीत करते हुए अपनी आखिरी इच्छा जाहिर की. उन्होंने 'मैं मरूं तो दुनिया बोले कि बंदा अच्छा था बस. चार आदमी इतना बोले तो अपनी जीत हो गई समझो.' बीमार जूनियर महमूद ने अपने दोस्त सलाम काजी को बताया था कि वो जितेंद्र और सचिन पिलगांवकर से मिलना चाहते हैं. दूसरी ओर जूनियर महमूद की बीमारी की खबर सुनकर जॉनी लीवर और मास्टर राजू भी उनसे मिलकर उनकी तबीयत का हालचाल लेने पहुंचे. 

सलाम काजी के मुताबिक उन्होंने जॉनी लीवर को जूनियर महमूद की इच्छा बताई. जॉनी लीवर ने यह बात जब अभिनेता जितेंद्र तक पहुचाई तो खबर मिलते ही वो जूनियर महमूद से मिलने उनके घर पहुंच गए. जितेंद्र जूनियर महमूद को इस हालत में देख भावुक हो गए और उनके आंसू निकल पड़े. अभिनेता सचिन पिलगांवकर ने भी जूनियर महमूद से मुलाकात कर हालचाल लिया. जूनियर महमूद के दोस्त सलाम काजी का कहना है कि जॉनी लीवर ने जब से जूनियर महमूद की बीमारी की खबर सुनी है वो लगभग रोज ही उनसे मुलाकात करने के लिए आते हैं और हर घंटे सलाम काजी को फोन कर हालचाल लेते रहते हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com