'बधाई हो' के तीन साल पूरे होने पर आयुष्मान खुराना बोले- खुशी है कि भारत में लेट प्रेगनेंसी जैसा मुद्दा लोगों के बीच आया

बॉलीवुड के यंग स्टार, आयुष्मान खुराना को उनकी पर्सनालिटी और बेहतरीन अभिनय के लिए उन्हें भारत में 'कंटेंट सिनेमा का पोस्टर बॉय' कहा जाता है, आयुषमान अभी तक अपनी फिल्मों के जरिए समाज की भलाई से जुड़े मुद्दों को लोगों तक पहुंचाने में कामयाब रहे हैं.

'बधाई हो' के तीन साल पूरे होने पर आयुष्मान खुराना बोले- खुशी है कि भारत में लेट प्रेगनेंसी जैसा मुद्दा लोगों के बीच आया

आयुषमान खुराना ने फिल्म बधाई हो के तीन साल पूरे होने पर कही ये बात

नई दिल्ली:

बॉलीवुड के यंग स्टार, आयुष्मान खुराना (Ayushmann Khurrana) को उनकी पर्सनालिटी और बेहतरीन अभिनय के लिए उन्हें भारत में 'कंटेंट सिनेमा का पोस्टर बॉय' कहा जाता है, आयुषमान अभी तक अपनी फिल्मों के जरिए समाज की भलाई से जुड़े मुद्दों को लोगों तक पहुंचाने में कामयाब रहे हैं. अपनी ब्लॉकबस्टर फैमिली एंटरटेनर, 'बधाई हो' के रिलीज के तीन साल पूरे होने के मौके पर आयुष्मान (Ayushmann Khurrana) ने बताया कि वह समाज पर इस फिल्म के पॉजिटिव इम्पैक्ट से काफी खुश हैं. 

बैक-टू-बैक आठ हिट फिल्में देने वाले आयुष्मान कहते हैं, “मेरी ज़्यादातर फिल्में परिवारों के लिए होती हैं, कि परिवार के लोग एक साथ आएं और फिल्म से जुड़ें. हमारी कोशिश होती है कि दर्शकों का भरपूर मनोरंजन हो और फिल्म का मैसेज उन तक पहुंच सके. खुशकिस्मती से मुझे अब तक बिल्कुल नई और अनोखी स्क्रिप्ट पर काम करने का मौका मिला है, साथ ही ये फिल्में परिवार के हर उम्र के दर्शकों के लिए उतनी ही मनोरंजक हैं.”

उन्होंने आगे कहा, "मेरे लिए तो फिल्म 'बधाई हो' हर कसौटी पर खरी उतरती है और मेरी ख़ुशकिस्मती है कि इस फिल्म ने भारत में लेट प्रेगनेंसी जैसे अहम मुद्दे को लोगों के बीच चर्चा का विषय बनाया. इस तरह की बातों पर हम उसी तरह से रिएक्ट करते हैं, जैसा कि हमारी सोसाइटी ने हमें सिखाया है."


टाइम मैगज़ीन ने आयुष्मान को समाज पर असर डालने वाले उनकी फिल्मों के लिए दुनिया के सबसे प्रभावशाली लोगों में से एक माना है. वे आगे कहते हैं, “इस फिल्म के जरिए हम लोगों को यह दिखाना चाहते थे कि असल में यह उतनी बड़ी बात नहीं है, जितना हम मानते हैं. हम चाहते थे कि लोग इस मुद्दे से जुड़ी सारी बातों को अच्छी तरह समझें. हम लोगों को बताना चाहते थे कि इसे टैबू की तरह नहीं देखा जाना चाहिए. मेरे लिए तो यही बात 'बधाई हो' की सबसे बड़ी कामयाबी थी. मेरी आने वाली फिल्म 'चंडीगढ़ करे आशिकी' भी इसी श्रेणी में आती है, और निश्चित तौर पर यह फ़िल्म पूरे परिवार का मनोरंजन करने वाली है."

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इस मौके पर आयुष्मान को राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता और दिग्गज अदाकारा, दिवंगत सुरेखा सीकरी की कमी महसूस हो रही है. उनको याद करते हुए वे कहते हैं, मैं ख़ुशकिस्मत हूं कि मुझे इस फिल्मों में स्वर्गीय सुरेखा सीकरीजी जैसी शानदार कलाकार के साथ काम करने का मौका मिला. एक इंसान के रूप में वह काफी विनम्र स्वभाव वाली थीं और उनके विचारों में गंभीरता थी. सेट पर उनके साथ काम करते हुए मैंने भी जिंदगी के कई अहम सबक सीखे. मैं उनको काफी मिस करता हूं और मुझे यकीन है कि इंडस्ट्री भी उन्हें बहुत मिस करती है."