नई रिसर्च का नया दावा, वेट लॉस की दवा लेने से हार्ट अटैक का खतरा भी होता है कम, जानें क्या कहती है पूरी रिसर्च

Obesity And Heart Attack Research: हाल ही में हुई एक मेडिकल रिसर्च में सामने आया है कि वेट लॉस के लिए इस्तेमाल होने वाली दवा में कुछ ऐसे तत्व हैं जो हार्ट अटैक और स्ट्रोक के रिस्क को कम कर सकते हैं.

नई रिसर्च का नया दावा, वेट लॉस की दवा लेने से हार्ट अटैक का खतरा भी होता है कम, जानें क्या कहती है पूरी रिसर्च

Research on Heart Attack: शोध में पाया गया वजन कम करने वाली दवा है हार्ट अटैक में भी कारगर

खास बातें

  • वजन कम करने वाली दवा है हार्ट अटैक में भी असरदार.
  • शोध में किया गया दावा.
  • जानें और क्या कहती हैं ये खास रिसर्च.

अंकित श्वेताभ: तेजी से बढ़ता मोटापा (Obesity) आजकल दुनिया को डरा रहा है. तेजी से बढ़ता वजन कई बीमारियों की जड़ बनता जा रहा है और इसकी चपेट में बच्चे, जवान से लेकर बुजुर्गों तक सभी आ रहे हैं. बढ़ते वजन के पीछे एक बड़ा कारण है बिगड़ती  लाइफस्टाइल और खानपान. यही वजह है कि समय और परिस्थितियों को देखते हुए अब धीरे-धीरे लोग हेल्थ कॉन्शियस होते जा रहे हैं.जिसे देखो वो पतला होने के लिए एक्सरसाइज (Exercise) और डाइट पर फोकस कर रहा है. हालांकि बाजार में वेट लॉस (Weight loss drug) के लिए कई तरह की दवाएं भी हैं. हाल ही में एक क्लीनिकल रिसर्च में कहा गया है कि वेट लॉस की एक दवा हार्ट अटैक (Heart attack) के रिस्क को कम करने में कामयाब हो सकती है.

Belly fat तेजी से कम करने में ये काले बीज होते हैं बहुत फायदेमंद, आप कर लीजिए डाइट में शामिल

क्या कहती है रिसर्च (Weight Loss Drug Reduce Heart Attack)

हाल ही में कराई गई इस इंटरनेशनल मेडिकल रिसर्च में कहा गया है वेट लॉस के लिए इस्तेमाल होने वाली दवा (Wegovy) वेगोवी हार्ट अटैक और स्ट्रोक के खतरे को 20 फीसदी तक कम करने में मददगार साबित हो सकती है. अमेरिकन हार्ट असोसिएशन साइंटिफिक सेशन में पेश की गई इस क्लीनिकल रिसर्च के दौरान करीब 17 हजार ऐसे लोगों पर टेस्ट किया गया जिनकी उम्र 40 साल के ऊपर थी और जो मोटापे से ग्रस्त थे. इन सभी लोगों में प्री एग्जिस्टिंग हार्ट संबंधी दिक्कतें थी. ऐसे लोगों को जब वेट लॉस की ये दवा दी गई तो ना केवल उनका मोटापा घटा बल्कि उनके हार्ट संबंधी बीमारियों के रिस्क भी कम हुए. आपको बता दें कि वेगोवी में पाए जाने वाला घटक सेमाग्लूटाइड दिल संबंधी जटिलताओं को कम करने में सहायक साबित हुआ है.

Latest and Breaking News on NDTV

कितनी सुरक्षित है ये दवा 

आपको बता दें कि हार्ट पेशेंट के लिए अब तक वेट लॉस की ये दवाएं खतरनाक कही जाती थी और हार्ट पेशेंट इनको लेने से बचते थे. क्लेवरलैंड क्लिनिक के हेल्थ एक्सपर्ट डॉक्टर मिशेल लिनकॉफ का कहना है कि इस वेट लॉस दवा के जरिए अब उन मरीजों की भी वेट लॉस थेरेपी हो सकेगी जो हार्ट संबंधी बीमारियों के शिकार हैं. आपको बता दें कि ये वेट लॉस की दवा मोटापे को कम करने के लिए इंजेक्टेबल फॉर्मेट में मौजूद है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.