BJP के मंत्री की धमकी के बाद Dabur ने वापस लिया करवाचौथ से जुड़ा विज्ञापन

डाबर कंपनी ने अपने विवादास्पद विज्ञापन (Dabur fem advertisement) को वापिस ले लिया है, जिसमें एक समलैंगिक जोड़े को करवा चौथ मनाते हुए दिखाया गया था. विज्ञापन पर उठे बवाल के बाद ये फैसला लिया गया. मध्‍य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्‍तम मिश्रा (Narrottam Mishra) ने भी डाबर कंपनी के इस विज्ञापन को लेकर ऐतराज जताया था.

BJP के मंत्री की धमकी के बाद Dabur ने वापस लिया करवाचौथ से जुड़ा विज्ञापन

गृहमंत्री नरोत्‍तम मिश्रा की चेतावनी के बाद Dabur ने वापस लिया करवाचौथ से जुड़ा विज्ञापन

नई दिल्ली:

डाबर कंपनी (Dabur Company) ने हाल ही में किये अपने विवादास्पद फेम ब्लीच के विज्ञापन (Dabur Fem Advertisement) को वापिस ले लिया है. सोशल मीडिया पर इस विज्ञापन की काफी आलोचना हुई, जिसके बाद कंपनी ने इसे हटाने का निर्णय लिया. दरअसल, डाबर के इस विज्ञापन में एक समलैंगिक जोड़े को करवा चौथ (Karva Chauth) मनाते हुए दिखाया गया था, जिसके बाद एकाएक लोगों का गुस्सा फूट पड़ा. वहीं इसे लेकर मध्‍य प्रदेश सरकार (MP Government) की ओर से भी इसकी शिकायत की गई थी. साथ ही एमपी के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा (Narrottam Mishra) ने भी इस विज्ञापन पर कड़ी आपत्ति जताते हुए कार्रवाई की बात कही थी, जिसके बाद डाबर कंपनी (Dabur Company) ये विज्ञापन हटा दिया. साथ ही कंपनी ने लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंचाने के लिए माफी भी मांगी.

कंपनी ने ट्वीट कर मांगी माफी

डाबर कंपनी ने मंगलवार को बयान जारी कर विज्ञापन वापस लेने की जानकारी दी. कंपनी ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'फेम करवाचौथ (Karva Chauth) कैंपेन को सभी सोशल मीडिया हैंडल से वापिस लिया जा रहा है और हम अनजाने में लोगों की भावनाएं आहत करने के लिए बिना किसी शर्त के माफी मांगते हैं'. इसी के साथ एक अन्य ट्वीट में कंपनी ने लिखा, 'डाबर और फेम विभिन्नता का समावेश और समानता में विश्वास करते हैं. हमें इन पर गर्व है, लेकिन हम ये भी समझते हैं कि सभी हमारे साथ एकमत नहीं हो सकते. हम असहमति का सम्मान करते हैं और हमारा उद्देश्य किसी के भी विश्वास, भावनाओं, परंपराओं और धार्मिक मूल्यों का अपमान करना नहीं है. अगर हमने अनजाने में किसी व्यक्ति या संस्था की भावनाओं को आहत किया है, तो इसके लिए माफी मांगते हैं. हम उनका भी शुक्रिया अदा करते हैं, जिन्होंने इस कैंपेन में हमारा साथ दिया.'

MP के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा का बयान


बता दें कि विज्ञापन को तत्काल हटाने की मांग करते हुए मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा (Narrottam Mishra) ने डीजीपी (DGP) को मामले की जांच करने का निर्देश दिया था. इस दौरान मंत्री ने कहा, 'मैं इसे गंभीर मामला मानता हूं, क्योंकि इसमें हिंदू त्योहार का सहारा लिया गया है. यह एक समलैंगिक जोड़े को करवा चौथ (Karva Chauth) मनाते दिखाया गया है. जहां आने वाले भविष्य में दो मर्दों को भी फेरा लेते दिखाया जा सकता है. यह आपत्तिजनक है. वहीं, गृहमंत्री मिश्रा ने चेतावनी दी थी कि अगर डाबर ने समलैंगिक जोड़े के करवा चौथ मनाने वाले विज्ञापन को वापस नहीं लिया तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

6pvi4sqk

विज्ञापन में थी समलैंगिक जोड़े की कहानी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


दरअसल, डाबर कंपनी ने अपने विज्ञापन में दो युवतियों को करवा चौथ (Karva Chauth) की तैयारी करते हुए दिखाया है. जहां एक युवती दूसरी युवती के फेस पर ब्लीच लगा रही है. इसके साथ ही दोनों त्योहार के बारे में चर्चा करती हुई नजर आ रही हैं. विज्ञापन में ऐसा बताया जा रहा है कि दोनों युवतियों ने करवाचौथ का व्रत रखा है. इस दौरान एक अन्य महिला इनकी बातचीत में शामिल हो जाती है, साथ ही दोनों को पूजा में पहने वाली साड़ी देती है. आखिर में बताया जाता है कि दोनों ही युवतियां समलैंगिक हैं. सोशल मीडिया में इस विज्ञापन के आते ही हंगामा शुरू हो गया, जिसके बाद कंपनी ने माफी मांगते हुए इस विज्ञापन को हटा दिया.