Vitamin D Deficiency: क्या सनस्क्रीन के इस्तेमाल से हो सकती है विटामिन डी की कमी, जानें क्या है सच्चाई

Sunscreen and Vitamin D: धूप लेने से विटामिन डी मिलता है तो कहीं सनस्क्रीन लगा लेने से विटामिन डी मिलना बंद तो नहीं हो जाता? इस सवाल का जवाब जानिए लेख में.

Vitamin D Deficiency: क्या सनस्क्रीन के इस्तेमाल से हो सकती है विटामिन डी की कमी, जानें क्या है सच्चाई

Vitamin D Deficiency: विटामिन डी की कमी होने में सनस्क्रीन का क्या रोल है आप भी जान लीजिए.

Vitamin D Deficiency: सनस्क्रीन अब लोगों के स्किन केयर रूटीन का एक बहुत ही जरूरी हिस्सा बन चुकी है. चिलचिलाती धूप से अपनी स्किन को बचाने के लिए सनस्क्रीन लगाने की सलाह दी जाती है. ऐसे में कई लोगों के मन में यह सवाल है कि क्या सनस्क्रीन (Sunscreen) लगाने से विटामिन डी का लेवल कम होने लगता है. दरअसल धूप लेने से विटामिन डी (Vitamin D) मिलता है तो कहीं सनस्क्रीन लगा लेने से विटामिन डी मिलना बंद तो नहीं हो जाता? ज्यादातर लोग सनस्क्रीन को लेकर इन्हीं सवालों में उलझे हुए हैं तो आज जानिए इन सवालों के जवाब.

सनस्क्रीन और विटामिन डी | Sunscreen and Vitamin D 
 

विटामिन डी और स्किन के बीच कनेक्शन 

 विटामिन डी एक एसेंशियल न्यूट्रिएं है जिसे ऑयली फिश, अंडे की जर्दी, दूध या फिर सप्लीमेंट्स से लिया जा सकता है. रही बात सूरज की तो यह विटामिन डी का मुख्य स्त्रोत (Vitamin D Source) है. सूरज की रोशनी (Sunlight) में मौजूद यूवीबी किरणें बॉडी में विटामिन डी के प्रोडक्शन को प्रेरित करती हैं. एक्सपर्ट्स की मानें तो विटामिन डी फैट सॉल्यूबल विटामिन है और शरीर में कैल्शियम और फास्फोरस के एब्ज़ोर्प्शन को बढ़ाता है. इसमें एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो हार्मफुल फ्री रेडिकल्स से प्रोटेक्ट करते हैं और यूवी किरणों से फोटो प्रोटेक्शन देने में मदद करते हैं. हफ्ते में 2 से 3 बार 15 मिनट तक धूप में रहने से विटामिन डी पर्याप्त मात्रा में मिल सकता है.

विटामिन डी की कमी से नुकसान 

विटामिन डी की कमी होना कभी भी एक अच्छा संकेत नहीं होता है और इससे कई स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं जैसे कमजोर मांसपेशियां और हड्डियां, थकान, वीक इम्यूनिटी. और चूंकि विटामिन भी सीधे आपकी त्वचा से जुड़ा होता है,  ऐसे में विटामिन डी की कमी (Vitamin D Deficiency) का सीधा असर आपकी स्किन पर नजर आने लगता है. स्किन एक्सपर्ट्स बताते हैं कि विटामिन डी की कमी बार-बार होने वाले ब्रेकआउट में योगदान कर सकती है. अपनी एंटीऑक्सीडेंट प्रॉपर्टीज के चलते ये पिंपल्स को रोकने में मदद करता है. विटामिन डी की कमी होने पर हार्मोन चेंज होते हैं जिससे पिंपल्स बढ़ सकते हैं. 

 सनस्क्रीन से विटामिन डी की कमी

तमाम रिसर्च, स्टडीज और एक्सपर्ट एडवाइस के बाद यह बात सामने आई है कि सनस्क्रीन लगाने से विटामिन डी के लेवल में कमी नहीं आती बल्कि यह आपकी स्किन को और हेल्दी बनाने में मदद करती है. एक्सपर्ट्स की मानें तो हर 2 घंटे में सनस्क्रीन (Sunscreen) अप्लाई करके अगर आप धूप में बाहर निकलते हैं तो इससे विटामिन डी में किसी भी तरह की कमी नहीं आएगी. रिसर्च में यह बात भी सामने आई है कि अगर आप रोजाना स्किन पर सनस्क्रीन अप्लाई करते हैं तो विटामिन डी की कमी होने की संभावना बहुत कम हो जाती है. इसके अलावा एक हेल्दी डाइट, रेगुलर सनस्क्रीन और विटामिन डी  सप्लीमेंट्स लेने से आप सनबर्न से भी खुद को बचा सकते हैं.

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.

देश के कई राज्यों में धूमधाम से मनाया जा रहा है गणेश चतुर्थी का त्योहार

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com