भारत के संविधान में नहीं लिखा गया बजट के बारे में, जानें- क्या है इतिहास

आपको बता दें, इंग्लैंड के वित्त मंत्री जिस ब्रीफकेस यानी अटैची में बजट पेश करते हैं, उसे ‘बजट बॉक्स’ कहा जाता था और आज भी कई देशों में यह परंपरा जारी है. यह लाल रंग का होता है. 1860 में इंग्लैंड के तत्कालीन वित्त मंत्री विलियम इवर्ट ग्लैडस्टोन ने इस परंपरा की शुरुआत की थी.

भारत के संविधान में नहीं  लिखा गया बजट के बारे में, जानें-  क्या है इतिहास

देश के आम बजट आज पेश किया जा रहा है.  इस साल भारत की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण दूसरी बार आम बजट पेश कर रही हैं. आइए ऐसे में जानते हैं क्या है बजट का इतिहास

आज की जिंदगी में जब हम बजट के बारे में सुनते हैं आमदनी और खर्चे का ख्याल आ जाता है. बजट शब्द की उत्पत्ति फ्रेंच भाषा के ‘बूजट' से हुई बताई जाती है.  ‘बूजट' का अर्थ होता है ‘चमड़े की थैली' इस आप बैग समझ सकते हैं.

बजट के वर्तमान स्वरूप का यदि इतिहास में सबसे पहले उल्लेख देखा जाए तो यह सबसे पहले 1773 में मिलता है. इस समय ब्रिटिश वित्तमंत्री रॉबर्ट वालपोल ने अपने वित्तीय प्रस्ताव को चमड़े के बैग से निकाला था और तब से ‘बजट' शब्द का प्रयोग सरकारी लेखा-जोखा के तौर पर होने लगा.

आपको बता दें, इंग्लैंड के वित्त मंत्री जिस ब्रीफकेस यानी अटैची में बजट पेश करते हैं, उसे ‘बजट बॉक्स' कहा जाता था और आज भी कई देशों में यह परंपरा जारी है. यह लाल रंग का होता है. 1860 में इंग्लैंड के तत्कालीन वित्त मंत्री विलियम इवर्ट ग्लैडस्टोन ने इस परंपरा की शुरुआत की थी.

बता दें, ऐसा कहा जाता है, सिर्फ 2 बार छोड़कर 2010 तक इसी अटैची से बजट पेश किया गया है. यह बैग काफी पुराना हो चुका है इसलिए इसे संग्रहालय में रख दिया गया और नया ब्रीफकेस तैयार किया गया है.

भारतीय बजट का इतिहास

ईस्ट-इंडिया कंपनी से ब्रिटिश क्राउन के लिए भारतीय प्रशासन के हस्तांतरण के दो साल बाद 7 अप्रैल, 1860 को पहली बार बजट पेश किया गया था. पहले वित्त सदस्य, जिन्होंने बजट प्रस्तुत किया था, जेम्स विल्सन थे.

भारत में बजट का इतिहास आज़ादी से पहले का है. 9 अक्टूबर 1946 से 14 अगस्त 1947 तक का बजट उस समय की अंतरिम सरकार के वित्तमंत्री लियाकत अली खां ने पेश किया था. फिर जब भारत आज़ाद हुआ तब आज़ाद भारत का पहला बजट आर के शनमुखम चेट्टी ने 26 नवंबर 1947 में पेश किया था.


भारतीय संविधान में कही भी नहीं है बजट शब्द का उल्लेख...
अगर हम भारतीय संविधान में बजट शब्द को ढूंढ़ेंगे तो हमें ये शब्द कहीं नहीं मिलेगा क्योंकि भारतीय संविधान में बजट शब्द का उल्लेख कहीं भी नहीं किया गया है. बजट के बदले संविधान के अनुच्छेद 112 में सरकार हर साल आय-व्यय का एक लेखा-जोखा प्रस्तूत करेगी जिसमे यह उल्लेख रहेगा कि ‘सरकार आगामी वित्तीय वर्ष में किस मद में कितना व्यय करेगी साथ ही इस व्यय को पूरा करने के लिए सरकार आय कहां से प्राप्त करेगी' का उल्लेख किया गया है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com