मुंबई में अब 15 दिसंबर से खुलेंगे स्कूल, ओमीक्रोन के खतरे को देखते हुए BMC ने लिया फैसला

कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमीक्रोन के खतरे को देखते हुए बृहन्मुंबई महानगर पालिका ने शहर में स्कूलों को एक दिसंबर की बजाय 15 दिसंबर से खोलने का निर्णय लिया है.

मुंबई में अब 15 दिसंबर से खुलेंगे स्कूल, ओमीक्रोन के खतरे को देखते हुए BMC ने लिया फैसला

मुंबई में एक दिसंबर की बजाय 15 दिसंबर से खुलेंगे स्कूल

मुंबई:

कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमीक्रोन के खतरे को देखते हुए बृहन्मुंबई महानगर पालिका ने शहर में स्कूलों को एक दिसंबर की बजाय 15 दिसंबर से खोलने का निर्णय लिया है. बृहन्मुंबई महानगर पालिका ने मंगलवार को कहा कि कोरोना वायरस का ‘ओमीक्रोन' स्वरूप के खतरों के मद्देनजर उसने शहर में स्कूलों को फिर से एक दिसंबर की बजाय 15 दिसंबर से खोलने का निर्णय लिया है. बीएमसी के शिक्षा अधिकारी राजू तडवी ने संवाददाताओं से बात करते हुए कहा कि “कोविड-19 के ओमीक्रोन स्वरूप ने हमारे सामने एक नया खतरा खड़ा कर दिया है. सुरक्षा सुनिश्चित करने और एहतियाती कदम उठाने के लिए हमें कुछ समय चाहिए. इसलिए हमने 15 दिसंबर से स्कूलों को फिर से खोलने और भौतिक उपस्थिति का निर्णय लिया है.”

उन्होंने कहा कि बीएमसी के स्कूलों में कक्षा एक से सात तक के 2,20,000 छात्र पढ़ते हैं. हमें मास्क की व्यवस्था करनी है और सभी स्कूलों को सैनिटाइज करना है. स्कूलों को फिर से खोलने से पहले हमें माता-पिता से सहमति पत्र भी लेना है. माता-पिता को सहमति पत्र देना अनिवार्य नहीं है. अगर वे अपने बच्चे को पहले कुछ दिन तक स्कूल नहीं भेजना चाहें तो छात्र ऑनलाइन माध्यम से कक्षाएं कर सकते हैं. राज्य के शिक्षा विभाग ने सभी स्थानीय निकायों से कहा है कि स्कूलों को पुनः खोलने से पहले माता-पिता की सहमति ली जाए.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गौरतलब है कि महाराष्ट्र में ग्रामीण क्षेत्रों में कक्षा एक से कक्षा चार तक और शहरी इलाकों में कक्षा एक से कक्षा सात तक के स्कूल एक दिसंबर से खोले जाने थे.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)