मध्य प्रदेश बोर्ड: रद्द हुई 9वीं और 11वीं की फाइनल परीक्षाएं, जानें- क्या होगा मूल्यांकन का प्रोसेस

कोरोना वायरस मामलों में बढ़ोतरी के कारण मध्य प्रदेश स्कूल शिक्षा विभाग ने कक्षा 9वीं और कक्षा 11वीं की फाइनल परीक्षाओं को रद्द कर दिया है. कक्षा 9वीं और 11वीं के छात्रों का मूल्यांकन 20 नवंबर से 28 नवंबर, 2020 तक किए गए रिवाइज्ड परीक्षा में उनके प्रदर्शन के आधार पर किया जाएगा.

मध्य प्रदेश बोर्ड:  रद्द हुई 9वीं और 11वीं की फाइनल परीक्षाएं, जानें- क्या होगा मूल्यांकन का प्रोसेस

नई दिल्ली:

कोरोना वायरस मामलों में बढ़ोतरी के कारण मध्य प्रदेश स्कूल शिक्षा विभाग ने कक्षा 9वीं और कक्षा 11वीं की फाइनल परीक्षाओं को रद्द कर दिया है. कक्षा 9वीं और 11वीं के छात्रों का मूल्यांकन 20 नवंबर से 28 नवंबर, 2020 तक किए गए रिवाइज्ड परीक्षा में उनके प्रदर्शन के आधार पर किया जाएगा.

अर्धवार्षिक परीक्षाएं जो इस साल 1 फरवरी से 9 फरवरी के बीच आयोजित की गई थीं.  दो बेस्ट परफॉर्मेंस का इस्तेमाल कक्षा 9वीं और कक्षा 11वीं के छात्रों के मूल्यांकन के लिए किया जाएगा.

कक्षा 9वीं और कक्षा 11वीं बोर्ड परीक्षा रद्द करने की घोषणा करते हुए, स्कूल शिक्षा विभाग एमपी बोर्ड ने मूल्यांकन मानदंड भी जारी किया है कि कैसे छात्रों को रद्द की गई बोर्ड परीक्षा में  अंक दिए जाएंगे.

एक एमपी बोर्ड के आधिकारिक बयान के अनुसार,  फाइनल परिणाम पांच विषयों में से सर्वश्रेष्ठ के आधार पर जारी किए जाएंगे. यदि वे पांच विषयों में पास होते हैं और कुल छह विषयों में से एक विषय में फेल हो जाते हैं, तो  उन छात्रों को पास घोषित किया दिया जाएगा.  

एक से अधिक विषयों में 33% अंक प्राप्त करने में असफल रहने वाले छात्रों के लिए, अधिकतम 10 ग्रेस मार्क्स अंक प्रदान किए जाएंगे. ग्रेस मार्क्स एमपी बोर्ड के बयान में कहा गया है, यदि आवश्यक हो तो एक से अधिक विषयों में दिए जा सकते हैं.

इसके अलावा, एमपी बोर्ड कक्षा 9वीं और कक्षा 11वीं परीक्षाओं के लिए उपस्थित होने का ऑप्शन भी उन छात्रों को प्रदान किया जाएगा जो  फाइनल परीक्षा में न्यूनतम आवश्यक अंक प्राप्त करने में असमर्थ हैं.  इसके अलावा,  जो छात्र जिन्होंने नवंबर 2020 या फरवरी परीक्षा में नहीं शामिल हो सके हैं, उन्हें परीक्षा के लिए उपस्थित होने का एक और मौका दिया जाएगा. ये मौका उन्हें एक बार COVID-19 से उत्पन्न स्थिति में सुधार होने के बाद दिया जाएगा.

COVID-19 मामलों में लगातार वृद्धि के कारण, मध्य प्रदेश सरकार ने कक्षा 10वीं और कक्षा 12वीं  बोर्ड परीक्षाओं को स्थगित करने का निर्णय लिया है. कक्षा 10वीं  और 12वीं  मध्य प्रदेश बोर्ड परीक्षा 30 अप्रैल और 1 मई से आयोजित होने वाली थी.

एमपी बोर्ड ने हाई स्कूल, हायर सेकंडरी, हायर सेकंडरी (वोकेशनल), डिप्लोमा इन प्री-स्कूल एजुकेशन और फिजिकल ट्रेनिंग परीक्षाओं को स्थगित कर दिया है.  बोर्ड कक्षा 10वीं  और कक्षा 12वीं  परीक्षा के वैकल्पिक तरीकों पर भी विचार कर रहा है और जल्द ही कक्षा 10वीं , 12वीं  बोर्ड परीक्षा आयोजित करने के संबंध में किसी भी निर्णय की घोषणा करेगा.


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com