जामिया मिलिया इस्लामिया ने छात्रों को दी राहत, स्थगित की PhD एंट्रेंस परीक्षा

जामिया मिलिया इस्लामिया (JMI) ने पीएचडी प्रवेश परीक्षाओं को स्थगित कर दी है. देश में कोरोना वायरस के संक्रमित लोगों की संख्या बढ़ने के कारण ये फैसला लिया है. बता दें, 17 अप्रैल को 24000 कोरोना वायरस के केस दिल्ली से सामने आए हैं. वहीं संक्रमण दर 24% को भी पार कर गई है.

जामिया मिलिया इस्लामिया ने छात्रों को दी राहत, स्थगित की PhD एंट्रेंस परीक्षा

नई दिल्ली:

जामिया मिलिया इस्लामिया (JMI) ने पीएचडी प्रवेश परीक्षाओं को स्थगित कर दिया है. देश में कोरोना वायरस के संक्रमित लोगों  की संख्या बढ़ने के कारण ये फैसला लिया है. बता दें, 17 अप्रैल को दिल्ली में 24000 कोरोना वायरस के केस सामने आए हैं. वहीं संक्रमण दर 24% को भी पार कर गई है.

वहीं इससे पहले 14 अप्रैल को, JMI ने COVID-19 मामलों में वृद्धि के बीच अपने स्कूलों में कक्षा 10वीं और कक्षा 12वीं की परीक्षाएं स्थगित कर दी थीं.

कोरोना संकट को देखते हुए जामिया मिलिया इस्लामिया कोरोना संबंधितदिशानिर्देश जारी किए थे. डीन ऑफ फैकल्टीज और अन्य अधिकारियों की एक बैठक में, विश्वविद्यालय ने विश्वविद्यालय परिसर में स्थिति पर नजर रखने के लिए एक कोरोना नियंत्रण समिति और एक निगरानी समिति का गठन करने का निर्णय लिया था.

विश्वविद्यालय ने सभी के लिए मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया गया है और साथ ही नियम बनाया है कि बिना मास्क के कैंपस में किसी को भी प्रवेश नहीं दिया जाएगा.

बता दें, कोरोना की वजह से पीएचडी एडमिशन प्रक्रिया में एक साल लेट हो चुकी है. शैक्षणिक सत्र 2020-21 की पीएचडी दाखिला प्रक्रिया अभी तक पूरी नहीं हुई है.


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com