Jadavpur University: जादवपुर यूनिवर्सिटी को ऑनलाइन से ऑफलाइन होने में लगेगा समयः जेयूटीए

Jadavpur University: जादवपुर विश्वविद्यालय में ऑनलाइन कक्षाओं से ऑफलाइन कक्षाएं शुरू करने में कुछ और समय लगेगा, कारण कि विश्वविद्याल के कई छात्र कैंपस से दूर हैं और उन्हें कैंपस में आने के लिए समय की जरूरत है.

Jadavpur University: जादवपुर यूनिवर्सिटी को ऑनलाइन से ऑफलाइन होने में लगेगा समयः जेयूटीए

नई दिल्ली:

Jadavpur University: जादवपुर विश्वविद्यालय में ऑनलाइन कक्षाओं से ऑफलाइन कक्षाएं शुरू करने में कुछ और समय लगेगा, कारण कि विश्वविद्याल के कई छात्र कैंपस से दूर हैं और उन्हें कैंपस में आने के लिए समय की जरूरत है. जादवपुर विश्वविद्यालय में छात्र ऑफलाइन कक्षाएं शुरू करने को लेकर प्रर्दशन कर रहे हैं, फैकल्टी के साथ दुर्व्यवहार की खबरें भी आ रही हैं, वहीं कुछ छात्र ऑफलाइन कक्षाएं शुरू करने के लिए विश्ववविद्यालय से थोड़ा और समय की मांग कर रहे हैं. इस बीच जादवपुर यूनिवर्सिटी टीचर्स एसोसिएशन (JUTA) ने गुरुवार को फैकल्टी काउंसिल ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी के अध्यक्ष को एक पत्र लिखाकर इंजीनियरिंग छात्रों के एक वर्ग द्वारा हाल में ऑफलाइन कक्षाओं की मांग को लेकर प्रदर्शन और फैकल्टी के साथ दुर्व्यवहार की घटना पर अफसोस जताया है. 

रजिस्ट्रार स्नेहमंजू बसु ने कहा कि 3 फरवरी को जादवपुर विश्वविद्यालय में अन्य संस्थानों के साथ ऑफलाइन कक्षाएं शुरू होने वाली थीं, शैक्षणिक कार्यालय खोले गए थे और कला, विज्ञान और इंजीनियरिंग विभागों के फैकल्टी सदस्य आए थे. जादवपुर यूनिवर्सिटी टीचर्स एसोसिएशन (JUTA) के सचिव पार्थ प्रतिम रॉय ने कहा कि कई छात्रों ने परिवहन समस्याओं के कारण 15 फरवरी के बाद ऑफ़लाइन कक्षाएं आयोजित करने का अनुरोध किया था. इसलिए यह निर्णय लिया गया कि छात्रों के परामर्श से विभिन्न विभागों के लिए तारीखें तय की जाएंगी. फिर भी, कुछ छात्रों ने अपना विरोध जारी रखा है.
उन्होंने कहा, "हम लंबे समय के बाद ऑनलाइन से ऑफलाइन मोड में जा रहे हैं. एक सुचारु परिवर्तन के लिए, चीजों को व्यवस्थित करने के लिए विश्वविद्यालय के सभी हितधारकों द्वारा कुछ समय की आवश्यकता होती है."  

फैकल्टी ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी स्टूडेंट्स यूनियन (FETSU) के कुछ सदस्यों ने 8 फरवरी को कुलपति और रजिस्ट्रार के कार्यालयों के सामने प्रदर्शन किया था. इसके एक दिन बाद इंजीनियरिंग डीन अटल चौधरी ने इस्तीफा दे दिया था. हालांकि इसके पीछे निजी कारणों का हवाला दिया.

जादवपुर यूनिवर्सिटी टीचर्स एसोसिएशन (JUTA) ने पत्र में कहा है कि शिक्षकों ने हमेशा छात्रों की समस्याओं को प्राथमिकता दी है. उन्होंने तर्क दिया कि यदि कक्षाएं शारीरिक रूप से आयोजित की जाती हैं, तो परीक्षा भी ऑफ़लाइन मोड में सख्ती से आयोजित की जानी चाहिए. उन्होंने कहा कि कई साल से बहुत सारे छात्र कह रहे हैं कि अब वे ऑफ़लाइन कक्षाएं नहीं करेंगे. जमीनी हकीकत को देखते हुए हमें विभागवार फैसले लेने चाहिए. नियम और कानून सभी वर्षों के छात्रों के लिए समान होने चाहिए.
जादवपुर विश्वविद्याल के एक अधिकारी ने कहा कि इंजीनियरिंग और प्रौद्योगिकी संकाय के कुछ विभागों में ऑफ़लाइन कक्षाएं गुरुवार से शुरू हो गई हैं, लेकिन शारीरिक कक्षाएं फरवरी के मध्य के बाद ही पूरी तरह से शुरू की जाएंगी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


 ये भी पढ़ें ः फिर से खुला डीयू : छात्रों ने आने की तैयारियां की शुरू, हॉस्टल में कमरों के लिए करना होगा लंबा इंतजार