किस आधार पर आएगा 12वीं का रिजल्ट? CBSE के सचिव अनुराग त्रिपाठी की NDTV से खास बातचीत

CBSE 12th Board Result 2021:  सीबीएसई बोर्ड के सचिव अनुराग त्रिपाठी ने NDTV से खास बातचीत में बोर्ड के रिजल्ट से जुड़े कई अहम सवालों के जवाब दिए हैं. 

नई दिल्ली:

CBSE 12th Board Result 2021:  सीबीएसई 12वीं बोर्ड की परीक्षाएं रद्द होने के बाद छात्र, अभिभावक और शिक्षकों की नजरें इस बात पर टिकी हुई हैं कि आखिर रिजल्ट किस तरह तैयार किया जाएगा और कब जारी होगा. छात्र यह जानने के लिए बेहद उत्सुक हैं कि आखिर मूल्यांकन किस आधार पर होगा. इसी बीच सीबीएसई बोर्ड के सचिव अनुराग त्रिपाठी ने NDTV से खास बातचीत में बोर्ड के रिजल्ट से जुड़े कई अहम सवालों के जवाब दिए हैं. 

अनुराग त्रिपाठी ने कहा, "बच्चों और माता-पिता का तनाव ख़त्म हो चुका है, क्योंकि परीक्षाएं रद्द हो गई हैं. अब हमें रिज़ल्ट जारी करने के लिए दूसरे माध्यम का उपयोग करना होगा. इस पर हम विचार कर रहे हैं. इसे तय करने में क़रीब 2 सप्ताह का समय लगेगा कि किन-किन क्राइटेरिया पर हम रिज़ल्ट जारी कर सकते हैं."

सीबीएसई के सचिव ने छात्रों को रिजल्ट को लेकर धैर्य रखने की सलाह दी है. उन्होंने कहा, "हम क्राइटेरिया सर्कुलेट करेंगे और रिजल्ट की घोषणा निर्धारित समय में ही करेंगे."

उन्होंने कहा कि जब तक सीबीएसई कोई निर्णय नहीं ले लेती, बच्चे किसी भी अफ़वाह पर भरोसा न करें और इंतज़ार करें. 

सचिव ने कहा, "हम सबसे विचार करने के बाद ही निर्णय लेंगे. सीबीएसई हमेशा बच्चों के साथ खड़ा रहा है. क्राइटेरिया के लिए इंतज़ार करें. हम इस पर जानकारी सबसे के साथ शेयर करेंगे."

उन्होंने यह भी कहा कि 10वीं के लिए क्राइटेरिया तय कर दिया गया है. 12वीं के छात्रों को इसके लिए लिए इंतज़ार करना होगा. 

सीबीएसई के सचिव ने आगे कहा, "ये निर्णय बहुत सही समय में हुआ है. हमारे पास 2 महीने का समय है. बच्चों को एडमिशन को लेकर कोई कष्ट नहीं होगा." 

कब आएगा 12वीं का रिजल्ट?
हालांकि रिजल्ट को लेकर उन्होंने यह भी कहा कि समय सीमा वे अभी नहीं बता पाएंगे. लेकिन रिज़ल्ट समय पर जारी किया जाएगा. उन्होंने कहा, "बच्चे की परफॉरमेंस पर रिज़ल्ट आधारित होगा. छात्रों को परीक्षा देने का भी ऑप्शन दे सकेंगे. बच्चों को किसी तरह की भी कोई आशंका नहीं रखनी चाहिए."

सचिव ने आगे कहा, "हम यूजीसी के टच में हैं. उनको पता है कि रिज़ल्ट देने में समय लगेगा. किसी को चिंता करने की ज़रूरत नहीं है."


उन्होंने बताया कि इस बार के रिजल्ट में छात्रों की ओवरऑल परफॉरमेंस देखी जाएगी. मार्किंग तो होगी नहीं, लेकिन स्कूलों की इंटरनल कमेटी बनाई गई है और कमेटी जांच करेगी, छात्रों की परफॉरमेंस देखेगी. इससे किसी बच्चे का नुकसान नहीं होगा.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com



रिजल्ट जारी करने की तारीख पर बात करते हुए सचिव ने कहा, "हम कोई तारीख नहीं बता सकते कि कब रिज़ल्ट आएंगे. ये छोटा काम नहीं है. इसमें लंबा समय लगेगा. 25 हज़ार से ज़्यादा स्कूल हैं. सबसे डाटा लेने में समय लगेगा. बच्चे धैर्य रखें, रिजल्ट की घोषणा निर्धारित समय सीमा में की जाएगी.