'मुख्यमंत्री फेलोशिप कार्यक्रम' के लिए आवेदन शुरू, जानें कब है अंतिम तिथि और कितनी मिलेगी सैलरी

इसमें सरकार के साथ नीति, प्रबंधन, क्रियान्वयन, अनुश्रवण के कार्यों में सहभागिता का खास मौका मिलेगा. आकांक्षी विकास खंडों में तैनात होंगे, वहीं शोधार्थियों को मासिक पारिश्रमिक के साथ टैबलेट और भ्रमण भत्ता भी मिलेगा.

'मुख्यमंत्री फेलोशिप कार्यक्रम' के लिए आवेदन शुरू, जानें कब है अंतिम तिथि और कितनी मिलेगी सैलरी

लखनऊ:

युवाओं को सरकार के साथ नीति, प्रबंधन, क्रियान्वयन, अनुश्रवण के कार्यों में सहभागिता का खास मौका देने के उद्देश्य से शुरू की गई 'मुख्यमंत्री फेलोशिप कार्यक्रम' के लिए आवेदन 24 अगस्त तक किया जा सकता है. नियोजन विभाग के सचिव आलोक कुमार ने बताया कि ऑनलाइन आवेदन http://cmfellowship.upsdc.gov.in/ पर 10 अगस्त से शुरू हो चुका है. चयनित युवाओं द्वारा प्रदेश के 100 आकांक्षात्मक विकास खंडों में केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा संचालित सभी योजनाओं का समवर्ती मूल्यांकन किया जाएगा.

यही नहीं, शोधार्थियों द्वारा योजनाओं के संचालन में आ रही चुनौतियों के निराकरण तथा योजनाओं से जनमानस को अपेक्षित लाभ पहुंचाने के लिए सुझाव भी लिए जायेंगे, साथ ही योजना से सम्बंधित नीति निर्धारण योजना संरचना एवं योजना के कार्यान्वयन से सम्बंधित कार्यों में प्रतिभाग किया  जाएगा.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सीधी निगरानी वाले 'आकांक्षी ब्लॉक' कार्यक्रम में नियुक्त होने वाले इन शोधार्थियों को पारिश्रमिक के रूप में ₹30 हजार प्रतिमाह की दर से भुगतान किया जाएगा. पारिश्रमिक के अतिरिक्त भ्रमण के लिए ₹10 हजार प्रति माह का भुगतान किया जाएगा और टेबलेट खरीद के लिए एकमुश्त ₹15 हजार भी उपलब्ध कराए जाएंगे. साथ ही, यथासंभव विकास खंड में ही आवासीय सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


सीएम फेलोशिप के लिए तय मानकों में कृषि, ग्रामीण विकास, पंचायती राज एवं संबद्ध क्षेत्र वन, पर्यावरण एवं जलवायु-शिक्षा, स्वास्थ्य, स्वच्छता, पोषण एवं कौशल विकास ऊर्जा एवं नवीकरणीय ऊर्जा- पर्यटन एवं संस्कृति डाटा साइंस, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, आइटी, आइटीईएस, जैव प्रौद्योगिकी, मशीन लर्निंग डाटा गवर्नेंस बैंकिंग, वित्त एवं राजस्व-लोक नीति एवं गवर्नेंस सेक्टर के युवा आवेदन सकते हैं. विस्तृत जानकारी http://planning.up.nic.in/ पर ली जा सकती है.