RBI ने SBM Bank (India) Ltd को तत्काल प्रभाव से LRS लेन-देन रोकने को कहा

आरबीआई ने बैंकिंग रेग्युलेशन ऐक्ट, 1949 की धारा 35ए और 36 (1) (ए) के तहत एसबीएम बैंक को एलआरएस ट्रांजैक्शंस रोकने का निर्देश दिया है.

RBI ने SBM Bank (India) Ltd को तत्काल प्रभाव से LRS लेन-देन रोकने को कहा

आरबीआई का एक्शन

नई दिल्ली:

भारतीय रिजर्व बैंक आरबीआई (RBI) ने एसबीएम बैंक (इंडिया) लिमिटेड (SBM Bank (India) Ltd) को अगले नोटिस तक तत्काल प्रभाव से सभी लिबरलाइज्ड रेमिटेंस स्कीम (एलआरएस LRS) लेन-देन को रोकने का निर्देश दिया है. आरबीआई ने बैंकिंग रेग्युलेशन ऐक्ट, 1949 की धारा 35ए और 36 (1) (ए) के तहत एसबीएम बैंक को एलआरएस ट्रांजैक्शंस रोकने का निर्देश दिया है.

बैंक ने बैंकिंग नियमन कानून, 1949 की धारा 35ए और 36 (1) (ए) के तहत अपनी शक्तियों का इस्तेमाल करते हुए एसबीएम बैंक (इंडिया) लिमिटेड को अगले आदेश तक लिबरलाइज्ड रेमिटेंस स्कीम (एलआरएस) के तहत सभी लेनदेन तत्काल प्रभाव से रोकने का निर्देश दिया है. यह कार्रवाई बैंक में देखी गई कुछ भौतिक पर्यवेक्षी चिंताओं पर आधारित है, "आरबीआई ने अपनी विज्ञप्ति में कहा.

एलआरएस योजना के तहत, नाबालिगों सहित सभी निवासी व्यक्तियों को प्रति वित्तीय वर्ष $ 2,50,000 तक विदेशों में स्वतंत्र रूप से धन भेजने की अनुमति है. यह योजना 4 फरवरी, 2004 को 25,000 अमरीकी डालर की सीमा के साथ शुरू की गई थी.

एसबीएम बैंक मॉरीशस स्थित एसबीएम होल्डिंग्स की सहायक कंपनी है. इसने 1 दिसंबर 2018 को अपना परिचालन शुरू किया.

2019 में, आरबीआई ने एसबीएम बैंक (मॉरीशस) द्वारा नियामक मानदंडों का पालन नहीं करने के लिए एसबीएम बैंक (इंडिया) पर 3 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया था, जो नवंबर 2018 में बैंक के साथ सम्मिलित हो गया था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने एक बयान में कहा कि यह जुर्माना एसबीएम बैंक (मॉरीशस) द्वारा केंद्रीय बैंक द्वारा 'स्विफ्ट से संबंधित परिचालन नियंत्रणों के समयबद्ध कार्यान्वयन और मजबूती' और 'बैंकों में साइबर सुरक्षा ढांचे' पर जारी निर्देशों के कुछ प्रावधानों का अनुपालन नहीं करने के लिए लगाया गया है।
 

Featured Video Of The Day

पूर्व क्रिकेटर विनोद कांबली के खिलाफ FIR, पत्नी आंद्रिया ने मारपीट का लगाया आरोप