दया की भावना को ध्यान में रखते हुए बनाई गई 'शेमलेस', ऑस्कर विचार-विमर्श के योग्य बनी फिल्म

दया की भावना को ध्यान में रखते हुए 'शेमलेस' (Shameless) शॉर्ट फिल्म का ट्रेलर लॉन्च किया गया है, जो कि फैंस को भी खूब पसंद आ रहा है.

दया की भावना को ध्यान में रखते हुए बनाई गई 'शेमलेस', ऑस्कर विचार-विमर्श के योग्य बनी फिल्म

ऑस्कर विचार-विमर्श के लिए योग्य बनी 'शेमलेस' (Shameless)

खास बातें

  • दया की भावना को ध्यान में रखते हुए बनाई गई 'शेमलेस'
  • ऑस्कर विचार-विमर्श के लिए योग्य बनी शेमलेस
  • शेमलेस 15 मिनट की डार्क कॉमेडी थ्रिलर है
नई दिल्ली:

कोरोना वायरस की इस महामारी के दौर में यदि 2020 ने हमें कुछ सिखाया है तो वह यह है कि लोगों में दयाभाव का महत्व. इस दया की भावना को ध्यान में रखते हुए 'शेमलेस' (Shameless) शॉर्ट फिल्म का ट्रेलर लॉन्च किया गया है, जो कि फैंस को भी खूब पसंद आ रहा है. शेमलेस 15 मिनट की डार्क कॉमेडी थ्रिलर है. बताया जा रहा है कि शेमलेस फिल्म बेस्ट ऑफ शॉर्ट फिल्म फेस्टिवल के तीसरे संस्करण में फाइनलिस्ट रहा और न्यूयॉर्क इंडियन फिल्म फेस्टीवल में भी इसका प्रिमियर किया गया. 


'शेमलेस' (Shameless) फिल्म को लेकर राइटर-डायरेक्टर किथ गोम्स ने कहा, "मुझे बेहद खुशी है कि 'शेमलेस' का ट्रेलर रिलीज हो चुका है. मैंने मानवीय व्यवहार का निरीक्षण किया है और मानवीय भावना को ईमानदारी से अपनी कहानी के जरिए दर्शाना मुझे बेहद पसन्द है. इस संसार को दयाभावना की आवश्यकता है और मेरी फिल्म इस बात का अनुस्मारक है कि दयालु होना बेहद आसान है. मुझे उम्मीद है कि 'शेमलेस' उस संदर्भ में प्रभावकारी होगा."

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


वहीं, 'शेमलेस' (Shameless) की एक्ट्रेस सयानी गुप्ता (Sayani Gupta) और हुसैन दलाल ने फिल्म के बारे में बात करते हुए कहा, "हम  ट्रेलर के रिलीज होने का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे और अब जब यह रिलीज हो गया है, तो हम लोगों की प्रतिक्रिया जानने के लिए बेहद उत्साहित हैं. शेमलेस के जरिए हमने सामान्य जीवन में दयालुता को दर्शाने की कोशिश की है. हमारा विचार उन लोगों की मुसीबतों को पहचानना है जिनके लिए जिन्दगी आसान नहीं है. हम उम्मीद करते हैं कि दर्शक इससे यह सीखें की कैसे किसी के दिनचर्या को अपनी दया भावना से बेहतरीन बनाए."