कोरोना के नियमों के उल्लंघन के बाद क्वारंटीन हुए अरबाज, सोहेल और निर्वाण, तीनों के खिलाफ दर्ज हुआ मामला

बृह्नमुंबई म्यूनिसिपल कॉर्पोरेशन (बीएमसी) ने बॉलीवुड एक्टर-प्रोड्यूसर सोहेल खान (Sohail Khan), उनके बेटे निर्वाण खान (Nirvaan Khan) और भाई अरबाज (Arbaaz Khan) खान को क्वारंटीन के लिए ताज लैंड एंड होटल भेज दिया गया है.

कोरोना के नियमों के उल्लंघन के बाद क्वारंटीन हुए अरबाज, सोहेल और निर्वाण, तीनों के खिलाफ दर्ज हुआ मामला

अरबाज खान (Arbaaz Khan) और सोहेल खान (Sohail Khan) सात दिन के लिए हुए क्वारंटीन

खास बातें

  • अरबाज, सोहेल और निर्वाण खान हुए क्वारंटीन
  • हाल ही में दुबई से लौटे हैं सलमान खान के भाई
  • कोरोना के नियमों के उल्लंघन को लेकर दर्ज हो चुका है मामला
नई दिल्ली:

बृह्नमुंबई म्यूनिसिपल कॉर्पोरेशन (बीएमसी) ने बॉलीवुड एक्टर-प्रोड्यूसर सोहेल खान (Sohail Khan), उनके बेटे निर्वाण खान (Nirvaan Khan) और भाई अरबाज (Arbaaz Khan) खान को क्वारंटीन के लिए ताज लैंड एंड होटल भेज दिया गया है. इस तरह उन्हें अपना क्वारंटीन का समय अब ताज होटल में गुजारना होगा. अरबाज खान, सोहेल खान और निर्वाण खान पर कोविड-19 से जुड़े नियमों के उल्लंघन को लेकर मालमा दर्ज किया गया है.


अरबाज खान (Arbaaz Khan), सोहेल खान (Sohail Khan) और उनके बेटे निर्वाण खान (Nirvaan Khan) दिसंबर के आखिरी सप्ताह में दुबई से मुंबई लौटे हैं. उन्हें दिशा-निर्देशों के अनुसार बांद्रा में स्थित एक होटल में ठहरने के लिए कहा गया था, लेकिन वह तीनों ही अपने घर चले गए. ऐसे में तीनों के खिलाफ मुंबई पुलिस ने सोमवार को कोविड-19 संस्थागत पृथकवास नियमों के कथित उल्लंघन का मामला दर्ज किया है. इस बात की जानकारी नगर निकाय और पुलिस के अधिकारियों द्वारा दी गई.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


खार थाने के एक अधिकारी ने बताया कि अरबाज खान (Arbaaz Khan), सोहेल खान (Sohail Khan) और निर्वाण खान (Nirvaan Khan) के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 188 और 269 तथा महामारी अधिनियम के प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया गया है. बता दें कि कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन के फैलने के कारण स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा यह निर्णय किया गया था कि दुबई और ब्रिटेन से लौटने वाले लोगों को सात दिनों तक क्वारंटीन में रहना है. बताया जा रहा है कि कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन कोविड-19 से अधिक संक्रामक है. ऐसे में सरकार सावधानियां बरतने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है.