तालिबान को संगीत भी नहीं पसंद, अफगान म्यूजिशियन के सामने ही फूंक दिया उसका वाद्ययंत्र

इससे पहले तालिबान ने गाड़ियों में म्यूजिक बजाने पर प्रतिबंध लगा दिया था. इसके अलावा, तालिबान समूह ने शादियों में लाइव संगीत पर भी प्रतिबंध लगा दिया था और पुरुषों और महिलाओं को अलग-अलग हॉल में जश्न मनाने का आदेश दिया था.

तालिबान को संगीत भी नहीं पसंद, अफगान म्यूजिशियन के सामने ही फूंक दिया उसका वाद्ययंत्र

एक अफगान पत्रकार ने इस घटना का एक वीडियो ट्विटर पर साझा किया है.

काबुल:

अफगानिस्तान (Afghanistan) के पक्तिया प्रांत (Paktia province) में तालिबान ने एक संगीतकार के सामने ही उसका वाद्ययंत्र जला दिया. इस दौरान म्यूजिशियन रोता रहा और लोग हंसते रहे. एक अफगान पत्रकार ने इस घटना का एक वीडियो ट्विटर पर साझा किया है, जिसमें संगीतकार को वाद्य यंत्र जलता देखकर रोते हुए दिखाया गया है.

अफगानिस्तान के एक वरिष्ठ पत्रकार अब्दुलहक ओमेरी द्वारा पोस्ट किए गए एक वायरल वीडियो से यह भी पता चलता है कि बंदूकधारी एक शख्स  उस पर हंस रहा था, जबकि दूसरा उसकी "दयनीय स्थिति" का वीडियो बना रहा था.

ओमेरी ने एक ट्वीट में कहा, "तालिबान संगीतकार के वाद्य यंत्र को जला रहे हैं और स्थानीय संगीतकार रो रहा है. यह घटना #ZazaiArub जिला #Paktia प्रांत #अफगानिस्तान में हुई." 

इससे पहले तालिबान ने गाड़ियों में म्यूजिक बजाने पर प्रतिबंध लगा दिया था. इसके अलावा, तालिबान समूह ने शादियों में लाइव संगीत पर भी प्रतिबंध लगा दिया था और पुरुषों और महिलाओं को अलग-अलग हॉल में जश्न मनाने का आदेश दिया था. अफगानिस्तान में एक होटल के मालिक ने अक्टूबर में  रूसी समाचार एजेंसी स्पुतनिक को ये बताया था.

अफगान मीडिया के हवाले से स्पुतनिक न्यूज एजेंसी ने कहा है कि इन कार्रवाई के बीच, तालिबान ने अफगानिस्तान के हेरात प्रांत में कपड़ों की दुकानों में "पुतलों" के सिर काटने का भी आदेश दिया है. तालिबान कपड़ों की दुकानों में इस्तेमाल होने वाले "पुतलों" पर यह कहते हुए टूट पड़े कि यह शरिया कानून का उल्लंघन है.

VIDEO: तालिबान ने 3000 लीटर शराब काबुल की नहर में बहाई, तीन डीलर गिरफ्तार

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इस तरह की घटनाओं के निशान काबुल की सड़कों पर फिर से दिखने लगे हैं. तालिबान के सद्गुण संवर्धन और अवगुण रोकथाम मंत्रालय ने भी "धार्मिक दिशानिर्देश" जारी किए हैं, जिसमें अफगानिस्तान के टीवी चैनलों को महिलाओं को सीरीयल्स, ड्रामा और सोप ओपेरा में दिखाना बंद करने को किया गया है.