शीतऋतु में प्रदूषण के स्तर पर निगरानी के लिए दिल्ली में ‘हरित वॉर रूम’’

दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने इस शीतऋतु में शहर में प्रदूषण के स्तर पर निगरानी के लिए दिल्ली सचिवालय में ‘हरित वॉर रूम’ (Green War Room) का बृहस्पतिवार को उद्घाटन किया.

शीतऋतु में प्रदूषण के स्तर पर निगरानी के लिए दिल्ली में ‘हरित वॉर रूम’’

शीतऋतु में प्रदूषण के स्तर पर निगरानी के लिए दिल्ली में ‘हरित वॉर रूम’’

नई दिल्ली:

दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने इस शीतऋतु में शहर में प्रदूषण के स्तर पर निगरानी के लिए दिल्ली सचिवालय में ‘हरित वॉर रूम' (Green War Room) का बृहस्पतिवार को उद्घाटन किया. मंत्री ने कहा, कि प्रारंभिक प्रदूषकों की निगरानी,प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए उठाए गए कदमों और मोबाइल ऐप ‘दिल्ली ग्रीन'के जरिए प्राप्त हुई शिकायतों पर की गई कार्रवाई की जानकारी के लिए 10 सदस्यीय दल गठित किया गया है. पड़ोसी राज्यों में खेतों में पराली जलाने से संबंधित आंकडों की भी समीक्षा ‘वॉर रूम' में की जाएगी.


यह भी पढ़ें- अब 24 घंटे खुलेंगे दिल्ली के रेस्टोरेंट, केजरीवाल सरकार ने दी इजाजत

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


राय ने कहा, कि दिल्ली में वायु प्रदूषण की समस्या से निपटने की दिशा में कई एजेंसियां काम कर रही हैं. उनके बीच समन्वय स्थापित करने के लिए ‘हरित वॉर रूम' बनाया गया है. उन्होंने कहा कि नियंत्रण कक्ष निर्माण और विध्वंस स्थलों, सीमेंट संयंत्रों और कचरा जलाने पर धूल प्रदूषण को समाप्त करने के लिए दिशानिर्देशों को सख्ती से लागू करना सुनिश्चित करने की दिशा में काम करेगा. उन्होंने कहा, ‘‘ धूल विरोधी यह अभियान 15 अक्टूबर तक मिशन मोड में जारी रहेगा और इसका उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.'' उन्होंने कहा कि प्राप्त शिकायतों और शिकायतों के निवारण की दैनिक रिपोर्ट मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को भेजी जाएगी.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)