ऑफिस में तमाम टेंशन के बीच भी बढ़ते रहें आगे, ये रहे टिप्स

काम का प्रेशर, पॉलिटिक्स, बॉस व सहकर्मी से विचारधारा में मतभेद से आप टेंशन में रहते हैं और इसका असर आपके प्रदर्शन व पर्सनल लाइफ पर पढ़ने लगता है. पर आप चाहे तो इस माहौल से अछूते रह रहकर ऑफिस में लगातार आगे बढ़ सकते हैं.

ऑफिस में तमाम टेंशन के बीच भी बढ़ते रहें आगे, ये रहे टिप्स

ऑफिस में किसी भी सहकर्मी या बॉस से मतभेद होना आम बात है. इसके अलावा अमूमन हर नौकरी में आपको ऑफिस पॉलिटिक्स और नेगेटिव गॉसिप भी देखने-सुनने को मिलेगी. ऐसे माहौल में जॉब में तरक्की पाना काफी चैलेंजिंग होता है. नकारात्मक माहौल आपको हमेशा गुमराह करने और भटकाने की कोशिश करता है. काम का प्रेशर, पॉलिटिक्स, बॉस व सहकर्मी से विचारधारा में मतभेद से आप टेंशन में रहते हैं और इसका असर आपके प्रदर्शन व पर्सनल लाइफ पर पढ़ने लगता है. पर आप चाहे तो इस माहौल से अछूते रह रहकर ऑफिस में लगातार आगे बढ़ सकते हैं. नीचे दिए गए टिप्स आपकी राह आसान करेंगे. 

सहकर्मी से हुई कहा-सुनी को दिल में न रखें 
बॉस या सहकर्मी से विचारधारा अलग होने की वजह से कहा-सुनी होना आम बात है. इसका मतलब ये कतई नहीं कि आपको इस पल को अपने दिल में दबाए रखें. किसी भी इश्यू पर अलग अलग मत होना आम बात होती है. ये प्रोफेश्नल लाइफ का हिस्सा होता है. अपनी ईगो को साइडलाइन कर मतभेद को मनभेद न बनने दें. विचारों का अलग-अलग होना स्वभाविक है. उसे अपने व्यवहार में न लाएं. प्रोफेशल बनें और उस कलिग से हमेशा जोशीले अंदाज के साथ मिलें. आपकी मिलनसार छवि और सबके साथ अच्छे संबंध ही आपको प्रमोशन दिलाएंगे. 

ये भी पढ़ें: इंटरव्‍यू में सबसे पहले देखी जाती हैं ये क्‍वालिटीज, जानिए कैसे करें इसकी तैयारी

विनम्र रहें और अच्छे श्रोता बनें 
ऑफिस में आपको सहकर्मी की जरूरत पड़ती रहेगी. इसलिए उनके विचारों को ध्यान से सुनें. हो सकता है आपको उनसे काफी सीखने को मिले. अपनी भाषा में शालीनता और शिष्टाचार लाएं. गलती होने पर अपने सीनियर से बहस न करें. गलती मानें और दोबारा न दोहराने की बात करें. अच्छे श्रोता बनें तभी तेजी से सीख पाएंगे और आगे बढ़ पाएंगे. 

नकारात्मक विचार न रखें 
अकसर ऑफिसों में लोग टीम का माहौल ठीक न होने, सैलरी कम होने, परेशान होकर जॉब चेंज करने की बात करते रहते हैं. आप इन बातों पर ध्यान न दें. नकारात्मकता से दूर रहें. हमेशा मेहनत करें. आप नए हैं इसलिए हो सकता है कुछ नए नए प्रोजेक्ट की जिम्मेदारी लेने से कतराएं. लेकिन आपको चाहिए कि नई जिम्मेदारियां को आप पूरे आत्मविश्वास के साथ अपने हाथ में लें. अपनी कार्यकुशलता और दक्षता प्रदर्शित करने का यही अच्छा मौका होता है.

ये भी पढ़ें: कॉलेज प्लेसमेंट में पाना चाहते हैं मोटी सैलरी, तो करें ये काम

ऑफिस पॉलिटिक्स रहें दूर
अधिकांश ऑफिसों में इधर-उधर की बातें, कानाफूसी, गॉसिप आम बात है. लेकिन नई-नई जॉब में आपको इन सबमें उलझने की जरूरत नहीं. किसी और के बारे में जरूरत से ज्यादा न बोलें, क्योंकि वह बात कभी भी तीसरे इंसान तक जा सकती है. अकसर ऑफिसों में लोग टीम का माहौल ठीक न होने, सैलरी कम होने, परेशान होकर जॉब चेंज करने की बात करते रहते हैं. आप इन बातों पर ध्यान न दें. नकारात्मकता से दूर रहें. हमेशा मेहनत करते रहें. एक्टिव, क्रिएटिव रहें और नए-नए आइडियाज़ अपने बॉस से शेयर करें. 

अपने लक्ष्य को प्रभावित न होने दें
माहौल चाहे कितना भी नकारात्मक क्यों न हो, कोई कलिग आपकी टांग खींच रहा हो या यहां तक कि सैलरी न आई हो, आप हतोत्साहित करने वाली इन तमाम बातों से दूर रहें. इनका असर अपने ध्येय पर न पड़ने दें. ऑफिस में जो आपकी जिम्मेदारी है, काम है, उसे अच्छे से करें. 

करियर एंड एजुकेशन से जुड़ी और खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें
 


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com