LIC IPO : लिस्टिंग के पहले कंपनी ने आईपीओ की कीमत 949 रुपये प्रति शेयर रखी, सूत्रों ने दी जानकारी

LIC IPO Listing : 17 मई को स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्टिंग होनी है. इसके पहले खबर आ रही है कि कंपनी ने अपने शेयरों की कीमत 949 रुपये रखी है, जोकि इसके अधिकतम प्राइस बैंड है.

LIC IPO : लिस्टिंग के पहले कंपनी ने आईपीओ की कीमत 949 रुपये प्रति शेयर रखी, सूत्रों ने दी जानकारी

थघण

नई दिल्ली:

प्रमुख सरकारी बैंक Life Insurance Corp (LIC) के IPO अगले हफ्ते मंगलवार या 17 मई को स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्टिंग होनी है. इसके पहले खबर आ रही है कि कंपनी ने अपने शेयरों की कीमत 949 रुपये रखी है, जोकि इसके अधिकतम प्राइस बैंड है. मामले की जानकारी रखने वाले सूत्रों ने लिस्टिंग से पहले इसे लेकर जानकारी दी है. आईपीओ लॉन्च होने के साथ कंपनी इसका प्राइस बैंड न्यूनतम 902 रुपये से अधिकतम 949 रुपये पर रखा था. अब सूत्रों पर विश्वास करें तो लिस्टिंग के लिए कंपनी का सेलिंग प्राइस 949 रुपये हो सकता है. 

हालांकि, ग्रे प्रीमियम मार्केट में कंपनी के शेयरों की ट्रेडिंग में गिरावट आई है. एलआईसी के शेयर अपर एंड के प्राइस बैंड से बस 30 रुपये की बढ़त पर ट्रेड कर रहे थे. यह बड़ी गिरावट है क्योंकि महीने की शुरुआत में शेयर 100 रुपये की कीमत पर ट्रेड कर रहे थे. 

ये भी पढ़ें : LIC IPO पर केंद्र को राहत, प्रक्रिया में दखल से SC का इंकार, लेकिन IPO की वैधता का परीक्षण भी होगा

बता दें कि एलआईसी का आईपीओ बीते सोमवार को करीब तीन गुना सब्सक्रिप्शन के साथ बंद हुआ था. सरकार को अपनी 3.5 फीसदी हिस्सेदारी की बिक्री से 20,500 करोड़ रुपये मिले. आईपीओ के तहत 16,20,78,067 शेयरों की पेशकश की गई थी. इन शेयरों के लिए निवेशकों की तरफ से 47,83,25,760 बोलियां लगाई गईं. पात्र संस्थागत खरीदार (क्यूआईबी) श्रेणी के शेयरों को 2.83 गुना सब्सक्रिप्शन मिला. गैर-संस्थागत निवेशक (एनआईआई) श्रेणी के तहत 2,96,48,427 शेयरों की पेशकश की गई थी जिनके लिए 8,61,93,060 बोलियां लगाई गईं. 

खुदरा व्यक्तिगत निवेशकों ने 6.9 करोड़ शेयरों की पेशकश पर 13.77 करोड़ शेयरों की बोलियां लगाईं. एलआईसी के पॉलिसीधारकों के लिए आरक्षित खंड में छह गुना से अधिक अभिदान मिला है जबकि एलआईसी के पात्र कर्मचारियों के खंड में 4.4 गुना बोलियां मिली हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


Video : LIC IPO को लेकर कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने केंद्र सरकार की मंशा पर उठाए सवाल