आदित्य चोपड़ा फिल्म इंडस्ट्री के 30 हजार कामगारों को लगवाएंगे कोरोना टीका, महाराष्ट्र CM से मांगी इजाजत

वाईआरएफ ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से गुजारिश की है कि इन कामगारों के इम्यूनाइजेशन प्रोग्राम को संचालित करने हेतु उनकी फिल्म कंपनी को कोविड-19 की 60,000 वैक्सीन खरीदने दी जाए, जिसका पूरा खर्चा वे खुद उठाएंगे. 

आदित्य चोपड़ा फिल्म इंडस्ट्री के 30 हजार कामगारों को लगवाएंगे कोरोना टीका, महाराष्ट्र CM से मांगी इजाजत

नई दिल्ली:

प्रोडक्शन हाउस यश राज फिल्मस  (Yash Raj Films) ने फिल्म इंडस्ट्री के 30 हजार कामगारों का टीकाकारण करवाने का फैसला किया है. प्रोडक्शन हाउस का कहना है कि वे इस वैक्सीनेशन का पूरा खर्च भी उठाएंगे. आदित्य चोपड़ा ने पूरी फिल्म इंडस्ट्री के कामगारों का टीकाकरण करवाने के लिए महाराष्ट्र के सीएम से 60,000 कोरोना वायरस वैक्सीन खरीदने की इजाजत मांगी है. वाईआरएफ (Yash Raj Films) ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से गुजारिश की है कि इन कामगारों के इम्यूनाइजेशन प्रोग्राम को संचालित करने हेतु उनकी फिल्म कंपनी को कोविड-19 की 60,000 वैक्सीन खरीदने दी जाए, जिसका पूरा खर्चा वे खुद उठाएंगे. 


वाईआरएफ  (Yash Raj Films) ने फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने इम्पलॉयीज (FWICE) को यह कहते हुए एक पत्र लिखा है कि- "फिल्म इंडस्ट्री इस समय अभूतपूर्व दौर से गुजर रही है. वहीं कर्मचारियों के हेल्प को लेकर भी बात चल रही है. हजारों कामगार रोजाना अपनी जीविका चला पाएं और अपने परिवारों की रक्षा कर सकें इस लिए यशराज फिल्म्स इस संबंध में यश चोपड़ा फाउंडेशन के माध्यम से अपना सहयोग और समर्थन देना चाहती है. हमने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री से  लिखित अनुरोध किया है कि वे हमें 30,000 पंजीकृत कामगारों के लिए जल्द से जल्द कोविड-19 की वैक्सीन आवंटित करें और उन्हें खरीदने की अनुमति दें. ये सभी कामगार मुंबई की फिल्म इंडस्ट्री के फेडरेशन से जुड़े सदस्य हैं।"

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पत्र में आगे लिखा गया है, "कामगारों के टीकाकरण से जुड़ा हर खर्च यश चोपड़ा फाउंडेशन उठाएगा. इसमें जागरूकता फैलाना, कामगारों को लाना-ले जाना, इम्यूनाइजेशन प्रोग्राम को संचालित करने हेतु जरूरी इंफ्रास्ट्रक्चर खड़ा करना आदि शामिल होंगे. हमें आशा है कि हमारा यह अनुरोध मंजूर कर लिया जाएगा, जिससे हमारे सदस्य सुरक्षित हो सकेंगे और वे जल्द से जल्द काम पर लौटने के काबिल भी हो जाएंगे". वहीं FWICE के प्रेसिडेंट बी. एन तिवारी ने इस  फैसले की सराहना की है.