एनिमल पर भारी पड़ गया पापा...पापा...पापा...जानें कैसी है रणबीर कपूर की फिल्म- पढ़ें मूवी रिव्यू

Animal Movie Review: रणबीर कपूर, अनिल कपूर, रश्मिका मंदाना और बॉबी देओल की एनिमल रिलीज हो गई है. जानें कैसी है फिल्म.

एनिमल पर भारी पड़ गया पापा...पापा...पापा...जानें कैसी है रणबीर कपूर की फिल्म- पढ़ें मूवी रिव्यू

Animal Movie Review in Hindi: पढ़ें रणबीर कपूर की एनिमल का रिव्यू

नई दिल्ली:

Animal Movie Review in Hindi: संदीप वांगा रेड्डी ऐसे डायरेक्टर हैं जिनकी फिल्मों में जो भी चीज दिखाई जाती है, वह हद से गुजरी हुई होती है. इसकी मिसाल उनकी फिल्म अर्जुन रेड्डी और कबीर सिंह हैं. जिसमें एक सिरफिरा आशिक है. अब वह एनिमल लेकर आए हैं. एनिमल में रणबीर कपूर, अनिल कपूर, रश्मिका मंदाना और बॉबी देओल लीड रोल में हैं. इस बार संदीप ने अपनी फिल्म का सब्जेक्ट बाप बेटे के प्यार पर रखा है. प्यार भी ऐसा वाला एकदम घनघोर. संदीप ने फिल्म एक्शन भी रखा है तो एकदम घनघोर. संदीप ने फिल्म में इमोशन भी रखे हैं तो एकदम घनघोर. इस तरह एनिमल में हर चीज वह एक एक्स्ट्रीम लेवल पर ले गए हैं. जानें कैसी है फिल्म.

एनिमल मूवी रिव्यू:

एनिमल की कहानी

संदीप वांगा रेड्डी की एनिमल की कहानी बाप-बेटे के रिश्ते की है. बाप अमीर है, अपने काम में व्यस्त है. बेटा चाहता है तो सिर्फ  पिता की तवज्जो और प्यार. जिसके लिए वह कुछ भी कर गुजरने को तैयार है. बस जब पिता पर संकट आता है तो यह बेटा ढाल बनकर खड़ा हो जाता है और हर हद से गुजर जाता है. फिल्म में रश्मिका मंदाना और बॉबी देओल भी आते हैं और अपने किरदार निभाते हैं. लेकिन पूरी फिल्म पर छाया रहता है तो बाप बेटे का साया. इस तरह बाप बेटे का यह प्यार एक समय आकर देखने वाले के लिए सिरदर्द बनकर रह जाता है. फिल्म तीन घंटे 21 मिनट की है. फिल्म में कुछ समय के लिए ड्रामा दिखाया जाता है ताकि उसके बाद एक लंबा एक्शन सीन डाला जा सके. पहला हाफ ठीक-ठाक है और दूसरा सुस्त. कुल मिलाकर एक औसत कहानी है और जो पूरी तरह से पुरुषों की दुनिया है. 

एनिमल का डायरेक्शन

संदीप वांगा रेड्डी हर बार एक्स्ट्रीम पर जाते हैं. इस बार भी कुछ ऐसा ही है. उनकी दुनिया के पुरुष बहुत हिंसक और उग्र होते हैं और यही बात कबीर सिंह और अर्जुन रेड्डी के बाद एनिमल में भी नजर आती है. संदीप ने जिस तरह की फिल्म बनाई है, उसमें वह कुछ बातें स्थापित करने की कोशिश करते हैं, और एक अंधेरा रच डालते हैं. मनोरंजन के नाम पर सिर्फ एक्शन है और डायरेक्टर की निजी हताशा है. इस तरह फिल्म को लेकर जिस तरह की हाइप क्रिएट की गई, उस कसौटी पर डायरेक्शन खरा नहीं उतरता है.

एनिमल में एक्टिंग

एनिमल में शुरू से लेकर आखिर तक रणबीर कपूर छाए हुए हैं. इसमें उनका एक्शन अंदाज बढ़िया है और कई सीन में पापा-बेटा संवाद भी अच्छा है. इस फिल्म से आने वाले समय में रणबीर कपूर को फायदा होता नजर आ रहा है. रश्मिका मंदाना साउथ की जितनी बड़ी स्टार हैं, उस हिसाब से फिल्म में उनका रुतबा नजर नहीं आता है. अनिल कपूर ने ठीक-ठाक काम किया है. बॉबी देओल से और भी काम लिया जा सकता था. लेकिन वह रणबीर कपूर पर भारी पड़ सकते थे. लेकिन यहां उन्हें सीमित कर दिया गया है. 

एनिमल का वर्डिक्ट

एनिमल संदीप वांगा रेड्डी स्टाइल की फिल्म है. कहानी एवरेज है. पापा बेटे का फितूर है. एक्शन भरपूर है. रणबीर का नया अंदाज है. अगर आप में 201 मिनट बैठने का धैर्य है, खूंखार एक्शन पसंद है और रणबीर कपूर के फैन हैं तो फिल्म आपके लिए ही है. वर्ना मिस कर गए तो पछताना नहीं पड़ेगा.

रेटिंग:2/5 स्टार

डायरेक्टर: संदीप वांगा रेड्डी 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

कलाकार: रणबीर कपूर, रश्मिका मंदाना, बॉबी देओल और अनिल कपूर