Sivaji Ganesan Jayanti: काम के प्रति लग्न के लिए जाने जाते थे शिवाजी गणेशन, युवाओं के लिए आज भी हैं प्रेरणास्त्रोत

हर कोई अपने जीवन में किसी न किसी से प्रेरणा लेता ही है और लेनी भी चाहिए. आज का दिन यानी 1 अक्टूबर को भी एक ऐसी ही हस्ती ने जन्म लिया था, जिनके जीवन से प्रेरणा ली जा सकती है.

Sivaji Ganesan Jayanti: काम के प्रति लग्न के लिए जाने जाते थे शिवाजी गणेशन, युवाओं के लिए आज भी हैं प्रेरणास्त्रोत

Sivaji Ganesan Jayanti: आप भी ले सकते हैं Shivaji Ganesan के जीवन से प्रेरणा

नई दिल्ली:

Sivaji Ganesan Jayanti: तमिल सिनेमा के दिग्गज अभिनेता शिवाजी गणेशन (Actor Shivaji Ganesan) की आज 93वीं जयंती है. तमिल सिनेमा (Tamil Cinema) में उनके अतुल्य योगदान की वजह से गूगल ने उन पर डूडल (Google Doodle) बनाकर उन्हें श्रद्धांजलि दी है. पांच दशक के सिनेमाई करियर में उन्होंने 300 से अधिक फिल्मों में काम किया. आपको बता दें कि बेंगलुरु की कलाकार नूपुर राजेश चोकसी (Artist Noopur Rajesh Choksi) ने इस डूडल को बनाया है.

अपने काम के प्रति लग्न और जूझारूपन

काम के प्रति लगन और जूझारूपन के लिए जाने जाते थे शिवाजी गणेशन #ShivajiGanesan. अपने के लिए अगर आप भी इतनी ही लग्न पैदा कर लें तो कोई भी काम मुश्किल नहीं होता.

आपको बता दें कि आज यानि शुक्रवार, 1 अक्टूबर 2021 को दिवंगत अभिनेता शिवाजी गणेशन (Shivaji Ganesan) की 93वीं जयंती है. शिवाजी गणेशन ने 1952 में आई फिल्म 'पराशक्ति' से अपना डेब्‍यू किया. तमिल सिनेमा में अपनी आवाज और शानदार अभिनय के लिए विख्यात, गणेशन #Ganesan ने जल्द ही अंतरराष्ट्रीय #International ख्याति प्राप्त कर ली थी.

आपको जानकर हैरानी होगी कि 1964 में आई फिल्म नवरथी गणेशन की 100वीं फिल्म थी, जिसमें उन्होंने 9 अलग-अलग भूमिकाएं निभाई थीं. इसके लिए उनकी खूब तारीफ हुई थी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उनकी एक फिल्म ‘वीरपांडिया कट्टाबोम्मन शिवाजी' ने एक अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह (International Film Festival) में सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार (Best Actor Award) जीतने वाले पहले भारतीय बने. भारत सरकार (Indian Government) ने 1997 में उन्हें दादा साहब फाल्के पुरस्कार (Dadasaheb Phalke Award) से सम्मानित किया.