PM Modi भी देते हैं नीम और मिश्री के सेवन पर जोर, इम्यूनिटी बूस्ट करने से लेकर एलर्जी भी होती है दूर

Pm Modi भी करते हैं नीम और मिश्री का सेवन. सेहत पर फायदे जानकर आप भी खाने के लिए हो जाएंगे तैयार. 

PM Modi भी देते हैं नीम और मिश्री के सेवन पर जोर, इम्यूनिटी बूस्ट करने से लेकर एलर्जी भी होती है दूर

Neem and Mishri: प्रधानमंत्री मोदी नीम और मिश्री को मानते हैं अच्छा. 

खास बातें

  • नीम को आयुर्वेदिक नुस्खा माना जाता है.
  • औषधीय गुणों के लिए जाने जाते हैं नीम के फूल.
  • सेहत पर नीम और मिश्री का होता है अच्छा असर.

Healthy Food: अगर आप प्रधानमंत्री मोदी को फॉलो करते हैं तो आप जानते होंगे कि वे भी मिश्री और नीम के सेवन को अच्छा मानते हैं. असल में नवरात्रि के मौके पर प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) ने इंस्टाग्राम पर नीम के फूलों (Neem Flowers) और मिश्री की तस्वीर पोस्ट की थी जिसमें उन्होंने नीम और मिश्री (Mishri) से तैयार रस के सेवन का जिक्र किया था. बता दें कि नीम के फूलों में ऐसे कई गुण होते हैं जो सेहत पर अच्छा असर दिखाते हैं. तो आइए, जानते हैं सेहत पर किस तरह फायदेमंद हैं नीम के फूल और मिश्री. 


नीम और मिश्री के फायदे | Neem and Mishri Benefits 


नीम के हर हिस्से को उसके औषधीय गणों के चलते इस्तेमाल में लाया जाता है. चाहे नीम की छाल हो या फूल, सेहत पर होने वाले असर के लिए जाने जाते हैं. नीम के फूलों में स्किन को क्लेंज करने वाले गुण मौजूद होते हैं. आयुर्वेद (Ayurveda) के अनुसार नीम के फूलों को पित्त के लिए भी अच्छा माना जाता है. 

अब नीम के दूसरे हिस्से यानी नीम के पत्तों की बात करते हैं. नीम के पत्तों को उसके एंटीमाइक्रोबियल, एंटीवायरल, एंटीऑक्सीडेंट और एंटीसेप्टिक गुणों के लिए जाना जाता है. इसे पाचन (Digestion) के लिए भी अच्छा कहते हैं और इम्यूनिटी बूस्ट करने में भी नीम के पत्ते असरदार होते हैं. शरीर पर खुजली या जलन जैसी एलर्जी (Allergy) होने पर भी नीम के पेस्ट को लगाया जाता है. वहीं, नीम की दातुन से दांतों और मसूड़ों की सेहत अच्छी रहती है. 

अब बात करते हैं मिश्री की. मिश्री मोटी शक्कर होती है जिसे इम्यूनिटी (Immunity) और जुकाम से निजात पाने के लिए इस्तेमाल में लाया जाता है. अपने मेडिसनल गुणों के चलते इसे सिर घूमने, कमजोरी और चक्कर आने की दिक्कत में खाया जा सकता है. नीम के साथ मिश्री को मिलाकर खाने पर शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता यानी इम्यूनिटी मजबूत होती है और स्वास्थ्य बेहतर होता है.  

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.

ये 5 बुरी आदतें बनाती हैं हड्डियों को कमजोर, आज से ही करना छोड़ दें ये काम

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com