कांग्रेस द्वारा मिया खलीफा की फोटो को केक खिलाने का सच आया सामने, तो बोलीं- मुझे गुलाब जामुन खिलाया था...

मिया खलीफा (Mia Khalifa) की फोटो खूब वायरल हुई थी, जिसमें कांग्रेस के सदस्य मिया खलीफा की फोटो को केक खिलाते हुए दिखाई दे रहे थे. हाल ही में इस फोटो का सच सामने आ गया है.

कांग्रेस द्वारा मिया खलीफा की फोटो को केक खिलाने का सच आया सामने, तो बोलीं- मुझे गुलाब जामुन खिलाया था...

मिया खलीफा (Mia Khalifa) की फोटो को कांग्रेस द्वारा केक खिलाने का सच आया सामने

खास बातें

  • कांग्रेस द्वारा मिया खलीफा की फोटो को केक खिलाने का सच आया सामने
  • एक्ट्रेस बोलीं- मुझे जगमीत सिंह ने गुलाब जामुन खिलाया था, न कि...
  • मिया खलीफा का ट्वीट हुआ वायरल
नई दिल्‍ली:

अमेरिकन एक्ट्रेस मिया खलीफा (Mia Khalifa) किसानों पर किये गये ट्वीट के बाद लगातार सुर्खियों में बनी हुई हैं. वह किसानों के मुद्दे पर तो बेबाकी से अपने विचार साझआ करती ही हैं, साथ ही ट्रोल्स को भी मुंहतोड़ जवाब देने से पीछे नहीं हटती हैं. कुछ ही दिनों पहले मिया खलीफा की फोटो खूब वायरल हुई थी, जिसमें कांग्रेस के सदस्य मिया खलीफा की फोटो को केक खिलाते हुए दिखाई दे रहे थे. हाल ही में इस फोटो का सच सामने आ गया है. दरअसल, वहां मिया खलीफा की फोटो संपादित कर लगाई गई थी और वह असल तस्वीर राहुल गांधी के 37वें जन्मदिन से संबंधित थी. 

मिया खलीफा (Mia Khalifa) ने भी इस बात को लेकर ट्वीट किया है, जिसमें उन्होंने ट्रोल्स को भई मुंह तोड़ जवाब दिया है. मिया खलीफा ने न्यूजरेकर डॉट इन का ट्वीट शेयर करते हुए लिखा, "मैं इस सफाई की सराहना करती हूं. मुझे बल्कि जगमीत सिंह द्वारा गुलाब जामुन खिलाया गया था, कांग्रेसियों द्वारा केक नहीं." मिया खलीफा का यह ट्वीट सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है, साथ ही यूजर्स इसपर खूब कमेंट भी कर रहे हैं. बता दें कि संपादित की गई फोटो में कांग्रेस के सदस्य मिया खलीफा की फोटो को केक खिलाते हुए और उनकी तस्वीर के आसपास ही नजर आ रहे थे. 


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


मिया खलीफा (Mia Khalifa) इन दिनों लगातार किसानों के मुद्दे पर ट्वीट करतीं और बेबाकी से अपने विचार साझा करती हुई नजर आ रही हैं. बीते दिन भी उन्होंने किसान आंदोलन पर चिंता जताते हुए ट्वीट किया था, जिसमें उन्होंने लिखा था, "मैंने महसूस किया है कि इस बात को समझ पाना भी समझ से बाहर है कि कोई इतिहास  के सबसे बड़े आंदोलन को भुगान किया गया कैसे बता सकता है. लेकिन भारत में 100 करोड़ से भी ज्यादा लोग हैं और हम इसे भांप नहीं सकत हैं."