NEET-PG 2021: मेडिकल कॉलेजों में 1,456 खाली सीटों पर स्पेशल राउंड की काउंसलिंग होगी या नहीं, फैसला कल

NEET-PG 2021: मेडिकल कॉलेजों में 1,456 खाली सीटों पर स्पेशल राउंड की काउंसलिंग होगी या नहीं, इसका फैसला सुप्रीम कोर्ट ने सुरक्षित रखा है. कोर्ट इस मामले में कल फैसला सुनाएगी.

NEET-PG 2021: मेडिकल कॉलेजों में 1,456 खाली सीटों पर स्पेशल राउंड की काउंसलिंग होगी या नहीं, फैसला कल

NEET-PG 2021: मेडिकल कॉलेजों में 1,456 खाली सीटों पर स्पेशल राउंड की काउंसलिंग होगी या नहीं, फैसला कल

नई दिल्ली:

NEET PG 2021: नीट पीजी (NEET PG 2021) ऑल इंडिया कोटे (All India Quota) में मेडिकल कॉलेजों (Medical Colleges) में 1456 सीटें खाली रहने के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रखा है. केंद्र और याचिकाकर्ता की दलीलें सुनने के बाद कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रखा है और इस संबंध में फैसला शुक्रवार को सुनाएगी. सुप्रीम कोर्ट तय करेगा कि नीट पीजी (NEET PG 2021) ऑल इंडिया कोटे में मेडिकल कॉलेजों में खाली 1456 सीटों के लिए स्पेशल स्ट्रे राउंड काउंसलिंग होगी या नहीं. 

सुनवाई के दौरान जस्टिस एमआर शाह ने केंद्र और मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया से कहा कि  हमें आपका हलफनामा  नहीं मिला है. हमने सिर्फ अखबारों में पढ़ा है, आप इसे विरोध के रूप में न लें. सरकार भी डॉक्टरों को चाहती है. कोर्ट ने कहा कि हमारे पास सुपरस्पेशलिटी की कमी है, - सीटों की संख्या कम नहीं है. सीटों की संख्या 1,456 हैं. 
सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि सिर्फ यह तकनीकी रूप से सॉफ्टवेयर बंद है, हम इसे खत्म नहीं कर सकते हैं. हमें राष्ट्रीय हित, व्यापक जनहित को देखना होगा. मान लीजिए ये सीटें खाली हो जाती हैं तो मेडिकल काउंसलिंग कमेटी को फायदा कैसे होगा? लेकिन यह कहना कि तकनीकी रूप से संभव नहीं है, ऐसा नहीं है कि  हम इसे फिर से शुरू कर सकते हैं. 

हम इस तथ्य से अवगत हैं कि आपने पहले भी मॉप-अप राउंड किए थे, लेकिन साथ ही बड़ी संख्या में सीटें खाली नहीं हो रही हैं. आप सही हो सकते हैं कि हर बार सीटें खाली होने पर ऐसा नहीं किया जा सकता है. अगर सीटों की संख्या कम होती तो हम हस्तक्षेप नहीं करते लेकिन यह लगभग 1,456 सीटें हैं. इसलिए आपको फैसला करना है.

वहीं मेडिकल काउंसिल कमिटी (MCC) की ओर से ASG बलबीर सिंह ने कहा कि हर साल 600-700 सीटें खाली होती हैं. इसपर जस्टिस एमआर शाह ने कहा कि  क्या 1456 डॉक्टरों को पाकर सरकार खुश नहीं होगी? आखिर सरकार को 1456 डॉक्टर हासिल करने में दिक्कत क्या है? 
सरकार ने कहा कि इन 1456 सीटों में से अधिकतर यानी 1100 से ज्यादा सीटें मेडिकल शिक्षण से संबंधित हैं.  ये मेडिकल एकेडमिक्स के लिए हैं. ये नॉन क्लीनिकल शाखा के लिए हैं यानी मेडिकल टीचर के लिए है. 

बता दें कि इससे पहले सुप्रीम कोर्ट में केंद्र सरकार ने हलफनामा दाखिल किया है. केंद्र सरकार ने कहा खाली 1456 मेडिकल की सीटों को नहीं भरा जा सकता है. केंद्र सरकार ने कहा कि स्पेशल स्ट्रे राउंड काउंसलिंग नहीं कराई जा सकती है. केंद्र सरकार ने कहा कि NEET 2021 के लिए इस्तेमाल होने वाला सॉफ्टवेयर बंद किया जा चुका है. केंद्र सरकार ने कहा कि इससे नीट पीजी 2022 की काउंसलिंग बाधित होगी. केंद्र सरकार ने कहा कि सीटों को बढ़ाया गया था क्योंकि DNB कोर्स की काउंसलिंग को नही NEETPG 2021 में शामिल किया गया था.

ये भी पढ़ें ः सुप्रीम कोर्ट का NEET PG की खाली सीट को लेकर विशेष काउंसलिंग का निर्देश, कहा- 'छात्रों के भविष्य से न खेलें'

केंद्र ने NEET PG 2021 की खाली सीटों को लेकर सुप्रीम कोर्ट में दाखिल किया हलफनामा, गुरुवार को फिर सुनवाई

NEET PG 2022: नीट पीजी 2022 का स्कोरकार्ड आज, डाउनलोड करने का तरीका यहां से जानें

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com