NEET 2024: डॉक्टर बनना चाहते हैं तो जानिए इस बार कितना जाएगा नीट का Cutoff और कितने नंबरों की होगी जरूरत

डॉक्टर बनने की चाहत में हर साल 20 से 25 लाख बच्चे नीट यानी नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट में भाग लेते हैं. लेकिन जितनी संख्या में बच्चे परीक्षा में बैठते हैं उतनी संख्या में मेडिकल की सीटें नहीं है, इसलिए यह परीक्षा टफ हो जाती है और इसका कटऑफ ऊपर चला जाता है.

NEET 2024: डॉक्टर बनना चाहते हैं तो जानिए इस बार कितना जाएगा नीट का Cutoff और कितने नंबरों की होगी जरूरत

NEET 2024: डॉक्टर बनना चाहते हैं तो जानिए नीट में कितने प्रतिशत नंबर की होगी जरूरत

नई दिल्ली:

What marks to become a doctor: देश में ज्यादातर युवाओं की चाहत डॉक्टर बनने की होती है. यह प्रोफेशन नोबल तो है ही इसमें पैसे भी काफी है. अगर किसी को सरकारी या प्राइवेट मेडिकल कॉलेज या हॉस्पिटल में नौकरी नहीं मिलती है तो वह आराम से अपना क्लिनिक खोलकर अच्छी-खासी कमाई कर सकता है. यही कारण है कि एमबीबीएस (MBBS) डॉक्टर बनने की चाहत में हर साल 20 से 25 लाख बच्चे नीट यानी नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (NEET 2024) में बैठते हैं. अपने देश में मेडिकल और डेंटल कॉलेजों में 1,09,048 एमबीबीएस, 27868 बीडीएस, 52,720 आयुष, 603 वेटरिनरी मेडिकल की इतनी ही सीटे हैं. इसलिए नीट की परीक्षा टफ हो जाती और इसे पास करना आसान नहीं होता है. नीट 2024 परीक्षा पास करने के लिए छात्रों को कितने प्रतिशत नंबर की जरूरत होगी, अगर इसकी जानकारी उन्हें मिल जाती है तो उनके लिए नीट परीक्षा को क्रैक करने के लिए रणनीति बनाने में मदद मिलती है.

CBSE ओपन बुक परीक्षा मौजूद परीक्षा प्रणाली से ज्यादा चुनौतीपूर्ण, इसमें न फिक्स सवाल होंगे ना रटे-रटाए जवाब : शिक्षाविद अनीता रामपाल

साल 2024 में एमबीबीएस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए नीट 2024 में कितने अंकों की जरूरत होगी, इसका अंदाजा पिछले साल यानी नीट 2023 कटऑफ स्कोर और पर्सेंटाइल से लगाया जा सकता है. पिछले साल नीट 2023 में अनारक्षित श्रेणी के उम्मीदवारों के लिए एमबीबीएस कटऑफ स्कोर-720-137 और कटऑफ पर्सेंटाइल 50 रहा था. ऐसे में इस बार अनारक्षित श्रेणी के उम्मीदवारों को थोड़ा अधिक नंबर लाने होंगे. वहीं ईडब्ल्यूएस और पीएच/ यूआर श्रेणी के उम्मीदवारों के लिए कटऑफ स्कोर 136-121 और कटऑफ पर्सेंटाइल 45 था. एससी, एसटी और ओबीसी श्रेणी के उम्मीदवारों के लिए कटऑफ स्कोर 136-107 और कटऑफ पर्सेंटाइल 40 था. वहीं एससी, एसटी और ओबीसी श्रेणी के फिजिकल हैंडिकैप्ड छात्रों के लिए पिछले साल नीट कटऑफ स्कोर 120-107 और 40 पर्सेंटाइल था. 

CBSE Board Exam 2024: सीबीएसई बोर्ड परीक्षा पास होने के लिए इतने अंक जरूरी, 10वीं, 12वीं की मार्किंग स्कीम यहां

नीट परीक्षा में भाग लेने के लिए स्टूडेंट का फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायो ग्रुप से 12वीं की परीक्षा पास करना जरूरी है. हालांकि इस साल 12वीं बोर्ड देने वाले छात्र भी नीट 2024 के लिए आवेदन कर सकते हैं. फिलहाल नीट 2024 परीक्षा के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू है, जो 9 मार्च तक चलेगी. इस साल नीट परीक्षा का आयोजन 5 मई 2024 को देशभर के विभिन्न परीक्षा केंद्रों पर की जाएगी. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

शिक्षक बनने के नियमों में हुआ बदलाव, अब 12वीं कक्षा को पढ़ाने के लिए भी जरूरी होगा टीईटी