जम्मू-कश्मीर: गरीब किसान का बेटा मनदीप बना टॉपर, 10वीं में हासिल किए 98.6% अंक

जम्मू-कश्मीर बोर्डी की 10वीं की परीक्षा में मनदीप ने टॉप किया है. मनदीप सिंह ने जम्मू-कश्मीर के जिला उधमपुर के रामनगर तहसील के एक सुदूर गांव अमरोह के जोन कुलवंता के सरकारी हाई स्कूल पडरखा में पढ़ाई की है.

जम्मू-कश्मीर: गरीब किसान का बेटा मनदीप बना टॉपर, 10वीं में हासिल किए 98.6% अंक

जम्मू-कश्मीर बोर्ड की 10वीं की परीक्षा में गरीबा किसान के बेटे मनदीप ने किया टॉप.

जम्मू:

जम्मू-कश्मीर के उधमपुर में रहने वाले होनहार छात्र मनदीप सिंह ने साबित कर दिया है कि हौसले बुलंद हों तो कठिन से कठिन राह आसान हो जाती है. किसान के बेटे मनदीप ने जम्मू-कश्मीर बोर्ड परीक्षा में टॉप किया है. विपरीत परिस्थितियों का सामना करते हुए मनदीप ने दसवीं की परीक्षा में 98.6 फीसदी अंक हासिल किए हैं. मनदीप ने जिले में टॉप कर दूसरे छात्रों के लिए मेहनत और लगन की मिसाल पेश की है. मनदीप ने न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए कहा कि लॉकडाउन के दौरान पढ़ाई में उसके भाई ने मदद की. उसके गांव अमरोह में बिजली आपूर्ति की समस्या बनी रहती है. ऑनलाइन क्लास की भी व्यवस्था नहीं थी. इसके बावजदू वह परीक्षा की तैयारियों में जुटा रहा.


जम्मू-कश्मीर के जिला उधमपुर के रामनगर तहसील के एक सुदूर गांव अमरोह के मनदीप सिंह ने जोन कुलवंता के सरकारी हाई स्कूल पडरखा में पढ़ाई की है. मनदीप सिंह एक किसान का बेटा है. उसकी मां एक गृहिणी हैं. मनदीप सिंह ने कहा कि कई छात्रों ने शिकायतें की हैं कि लॉकडाउन उनकी पढ़ाई में बाधा डालता है. बिना स्कूल गए उन्हें उचित शिक्षा कैसे मिलेगी? मनदीप ने कहा कि लॉकडाउन से उनकी पढ़ाई पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा. लॉकडाउन के दौरान उन्होंने खूब पढ़ाई की. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


मनदीप ने कहा कि एसकेयूएएसटी विश्वविद्यालय से बीएससी कृषि की पढ़ाई कर रहा उसका भाई लॉकडाउन के दौरान घर आया था. भाई ने पढ़ाई में मेरी बहुत मदद की. उसने कहा कि घर में ऑनलाइन क्लास के लिए कोई डिवाइस नहीं था. टीचरों ने मुझे पढ़ाई के लिए मुफ्त किताबें दी थीं. मनदीप ने छात्रों को अध्ययन सामग्री प्रदान करने के लिए भारत के प्रधानमंत्री और साथ ही एलजी जम्मू और कश्मीर को भी धन्यवाद दिया. उसने कहा कि सरकार ने दूर-दराज और ग्रामीण क्षेत्रों में शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए बहुत सारे प्रयास किए हैं.