Delhi Budget 2021: नर्सरी से 8वीं कक्षा के लिए तैयार होगा नया सिलेबस, खोला जाएगा सैनिक स्कूल

Delhi Budget 2021:  दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बताया कि सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले नर्सरी कक्षा से 8वीं के छात्रों के लिए एक नया सिलेबस डिज़ाइन किया जाएगा.

Delhi Budget 2021: नर्सरी से 8वीं कक्षा के लिए तैयार होगा नया सिलेबस, खोला जाएगा सैनिक स्कूल

Delhi Budget 2021: नर्सरी से 8वीं कक्षा के लिए तैयार होगा नया सिलेबस.

नई दिल्ली:

Delhi Budget 2021:  दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने मंगलवार को दिल्ली विधानसभा में पहला ई बजट पेश किया. इस दौरान उन्होंने शिक्षा के क्षेत्र से जुड़ी कई अहम घोषणा कीं. उपमुख्यमंत्री ने बताया कि दिल्ली का अब अपना खुद का शिक्षा बोर्ड होगा- दिल्ली बोर्ड ऑफ स्कूल एजुकेशन. इसके अलावा सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले नर्सरी कक्षा से 8वीं के छात्रों के लिए एक नया सिलेबस डिज़ाइन किया जाएगा. बता दें कि दिल्ली सरकार ने इस साल शिक्षा के लिए 16,300 करोड़ रुपये अलॉट किए हैं. 

दिल्ली का अपना शिक्षा बोर्ड होगा
मनीष सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली में 5,651 स्कूल हैं. नीति आयोग ने माना कि दिल्ली के सरकारी स्कूल नम्बर 1 हैं. लगभग 16 लाख बच्चे हैप्पीनेस क्लास में भाग लेते हैं. 

उन्होंने आगे कहा कि इंटरनेशनल सेल की स्थापना हम इसमें कर रहे हैं. स्कूलों में एंटरप्रेन्योरशिप को बढ़ावा देने के लिए 2 हज़ार रुपए प्रति बच्चे को दिए जाएंगे, ताकि उनमें एंटरप्रेन्योरशिप स्किल्स विकसित किए जा सकें. 100 स्कूल ऑफ एक्सीलेंस बनाए जाएंगे.


दिल्ली में नया सैनिक स्कूल खोला जाएगा
मनीष सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली में नया सैनिक स्कूल खोलेंगे, दिल्ली में फिलहाल एक भी सैनिक स्कूल नहीं है. दिल्ली के बच्चों को NDA के लिए तैयार करेंगे. देशभक्ति पाठ्यक्रम की शुरुआत होगी, ताकि हर बच्चा कट्टर देशभक्त बने. हर पढ़ा-लिखा व्यक्ति महिलाओं के लिए सम्मान रखे, स्कूलों में देशभक्त व्यक्ति तैयार करेंगे. पढ़े लिखे सफल युवाओं को उन छात्रों के लिए मदद करने कहेंगे जो बच्चे संसाधन की कमी से जूझ रहे हैं. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


टीचर्स यूनिवर्सिटी और लॉ यूनिवर्सिटी की भी शुरुआत होगी
दिल्ली में टीचर्स यूनिवर्सिटी की शुरुआत होगी, ताकि देश और दुनिया के बेहतर टीचर्स तैयार हो सकें. उच्च शिक्षा के लिए दिल्ली में लॉ यूनिवर्सिटी की शुरुआत भी होगी. इसके लिए नए कैंपस बनाए जाएंगे, सीट्स भी बढ़ाई जाएंगी.