Share Market : दो दिनों की गिरावट के बाद आज सुधरा बाजार, IT शेयरों में तेजी ने निफ्टी में भरा दम

दो दिनों की गिरावट के बाद आज ओपनिंग में दोनों ही बेंचमार्क इंडेक्स में सुधार दिखा है. हालांकि, शुरुआती कारोबार के बाद बाजार में गिरावट दर्ज होने लगी. आईटी और एफएमसीजी शेयरों में तेजी से सेंसेक्स में आज लगभग 300 अंकों की तेजी दर्ज हुई.

Share Market : दो दिनों की गिरावट के बाद आज सुधरा बाजार, IT शेयरों में तेजी ने निफ्टी में भरा दम

शेयर बाजार में अच्छी ओपनिंग, लेकिन शुरुआती कारोबार में दिखी गिरावट.

मुंबई:

एशियाई बाजारों में कमजोरी के बीच मंगलवार यानी 21 सितंबर, 2021 को घरेलू शेयर बाजारों में सुधार दिखा है. दो दिनों की गिरावट के बाद आज ओपनिंग में दोनों ही बेंचमार्क इंडेक्स में सुधार दिखा है. हालांकि, शुरुआती कारोबार के बाद बाजार में गिरावट दर्ज होने लगी. आईटी और एफएमसीजी शेयरों में तेजी से सेंसेक्स में आज लगभग 300 अंकों की तेजी दर्ज हुई. वहीं, ओपनिंग में निफ्टी अपने साइकोलॉजिकल लेवल 17,450 के ऊपर पहुंचा था. TCS, इन्फोसिस, HCL टेक, हिंदुस्तान यूनिलीवर, ITC और टेक महिंद्रा के शेयरों में आज तेजी दर्ज हुई.

सुबह 10.13 पर सेंसेक्स 84.73 अंकों यानी 0.14% की गिरावट दर्ज कर रहा था और इंडेक्स 58,406.20 के लेवल पर था. वहीं, निफ्टी में 21.65 अंकों या 0.12% की गिरावट आई थी और इंडेक्स 17,375.25 पर था.

अपोनिंग में सेंसेक्स 278.98 अंकों यानी 0.48% की उछाल के साथ 58,769.91 पर खुला था. वहीं, निफ्टी 73.80 अंकों यानी 0.42% की तेजी के साथ 17,470.70 पर खुला. निफ्टी पर रियल्टी इंडेक्स में 2 फीसदी की तेजी दिख रही थी. आईटी, एफएमसीजी, मेटल और फार्मा इंडेक्स भी 0.3 से 0.8 फीसदी की तेजी से बढ़े. ऑटो और हेल्थकेयर इंडेक्स में गिरावट थी. ONGC में सबसे ज्यादा- 4 फीसदी- की तेजी दिखी. कोल इंडिया, एचसीएल टेक, NTPC, JSW स्टील, हिंदुस्तान यूनिलीवर, एशियन पेंट्स, ग्रासिम, आयशर मोटर्स, रिलायंस और एलएंडटी के शेयर भी उछले.

चीनी रियल एस्टेट कंपनी Evergrande के दिवालिया हो जाने की आशंकाओं के बीच एशियाई बाजार में आज गिरावट दर्ज हुई है. सुबह में जापान के निक्केई इंडेक्स में 2 फीसदी की गिरावट आई थी. MSCI के इंडेक्स में 0.2 फीसदी की गिरावट हुई.


अगर कल के सत्र की बात करें तो कल की क्लोजिंग में सेंसेक्स सोमवार को 525 अंक लुढ़क गया जबकि एनएसई निफ्टी 17,400 के नीचे बंद हुआ. अमेरिकी केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व की इस सप्ताह होने वाली बैठक में प्रोत्साहन उपायों को कम किये जाने की घोषणा की संभावना को देखते हुए वैश्विक स्तर पर बिकवाली दबाव देखने को मिला. कारोबारियों के अनुसार अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपये की विनिमय दर में गिरावट से धारणा और कमजोर हुई. इसके अलावा, चीन में प्रमुख रियल एस्टेट कंपनी एवरग्रांड के समक्ष संकट और इसका दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था पर प्रभाव को देखते हुए वैश्विक स्तर पर जिंसों के दाम पर प्रतिकूल असर पड़ा.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


वहीं, वैश्विक स्तर पर कमजोर रुख के बीच शेयर बाजार में दो दिन की गिरावट से निवेशकों की संपत्ति 5,31,261.2 करोड़ रुपये घट गयी. बीएसई में सूचीबद्ध कंपनियों का बाजार पूंजीकरण 5,31,261.2 करोड़ रुपये घटकर 2,55,47,093.92 करोड़ रुपये पर आ गया.