तनिष्क विवाद के बीच जीशान अय्यूब की पत्नी रसिका ने शेयर की गोदभराई की Photo, बोलीं- लव जिहाद पर रोने से पहले...

तनिष्क (Tanishq) विज्ञापन के बढ़ते विवाद के बीच बॉलीवुड के मशहूर एक्टर जीशान अय्यूब (Zeeshan Ayyub) की पत्नी और डायरेक्टर रसिका अगाशे (Rasika Agashe) ने अपनी गोदभराई की तस्वीर साझा की है.

तनिष्क विवाद के बीच जीशान अय्यूब की पत्नी रसिका ने शेयर की गोदभराई की Photo, बोलीं- लव जिहाद पर रोने से पहले...

रसिका अगाशे (Rasika Agashe) ने शेयर की अपनी गोदभराई की तस्वीर

नई दिल्ली:

तनिष्क (Tanishq) का विज्ञापन विवाद धीरे-धीरे तूल पकड़ता जा रहा है. इस विज्ञापन का विरोध करने वालों को लेकर बॉलीवुड कलाकारों ने भी जमकर आवाज उठाई. वहीं, हाल ही में विज्ञापन के बढ़ते विवाद के बीच बॉलीवुड के मशहूर एक्टर जीशान अय्यूब (Zeeshan Ayyub) की पत्नी और डायरेक्टर रसिका अगाशे (Rasika Agashe) ने अपनी गोदभराई की तस्वीर साझा की है, जो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है. अपनी तस्वीर को साझा करते हुए उन्होंने लव जिहाद को लेकर भी लोगों पर तंज कसा है और उन्हें स्पेशल मैरिज ऐक्ट के बारे में पढ़ने की सलाह भी दी है. 


मोहम्मद जीशान अय्यूब (Zeeshan Ayyub) की पत्नी रसिका अगाशे (Rasika Agashe) ने यह फोटो तनिष्क विज्ञापन विवाद के बीच साझा की. उन्होंने फोटो को साझा करते हुए लिखा, "मेरी गोदभराई, सोचा शेयर कर दूं. और हां लव जिहाद पर रोने से पहले कृप्या थोड़ा स्पेशल मैरिज एक्टर के बारे में भी पढ़ लेना." रसिका अगाशे की इस तस्वीर पर सोशल मीडिया यूजर भी खूब कमेंट कर रहे हैं. रसिका के अलावा मशहूर डायरेक्टर कबीर खान की पत्नी मिनी माथुर (Mini Mathur) ने भी एक उदाहरण पेश किया. उन्होंने लिखा, "यह और इससे ज्यादा ही मुझे अपनी बहुसांस्कृतिक शादी में प्यार मिला है."

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बता दें कि तनिष्क (Tanishq) के इस विज्ञापन को लेकर सोशल मीडिया पर मिले-जुले रिएक्शन देखने को मिले. जहां कुछ बॉलीवुड कलाकार विज्ञापन के समर्थन में नजर आए तो वहीं कंगना रनौत जैसे कलाकारों ने तनिष्क के विज्ञापन को गलत ठहराया. इस विज्ञापन को लेकर विज्ञापन संघ ने भी अपना बयान जारी किया है. उन्होंने कहा, "द् एडवर्टाजिंग क्लब भारतीय मीडिया और विज्ञापन उद्योग की तरफ से तनिष्क और उसके कर्मचारियों को नई ज्वैलरी लाइन पर उनके नवीनतम विज्ञापन के संबंध में धमकी देने और निशाना बनाए जाने की कड़ी निंदा करता है. यह किसी भी तरह से नैतिक मानकों को नहीं तोड़ता है और यह संगठन या धर्म या किसी भी व्यक्ति के लिए अपमानजनक नहीं है."