वाजिद खान वर्सोवा कब्रिस्तान में हुए सुपुर्द-ए-खाक, नम दिखीं भाई साजिद की आंखें- देखें Photos और Video

वाजिद खान (Wajid Khan) को वर्सोवा कब्रिस्तान में सुपुर्द-ए-खाक किया गया. इस कब्रिस्तान में बॉलीवुड के मशहूर एक्टर इरफान खान को भी सुपुर्द-ए-खाक किया गया था.

वाजिद खान वर्सोवा कब्रिस्तान में हुए सुपुर्द-ए-खाक, नम दिखीं भाई साजिद की आंखें- देखें Photos और Video

वाजिद खान (Wajid Khan) वर्सोवा कब्रिस्तान में हुए सुपुर्द-ए-खाक

खास बातें

  • वाजिद खान वर्सोवा कब्रिस्तान में हुए सुपुर्द-ए-खाक
  • नम दिखीं भाई साजिद की आखें
  • वाजिद खान ने 42 वर्ष की उम्र में कहा दुनिया को अलविदा
नई दिल्ली:

बॉलीवुड के मशहूर सिंगर और म्यूजिक कंपोजर वाजिद खान (Wajid Khan) का 42 वर्ष की उम्र में निधन हो गया. मशहूर सिंगर ने बीते रविवार को दुनिया को अलविदा कह दिया. उनके निधन से पूरा बॉलीवुड शोक में है. प्रियंका चोपड़ा, अमिताभ बच्चन, अक्षय कुमार, वरुण धवन, रवीना टंडन और कई कलाकारों ने वाजिद खान के निधन पर ट्वीट कर शोक जताया. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक वाजिद खान को आज सुबह वर्सोवा कब्रिस्तान में सुपुर्द-ए-खाक किया गया. इस कब्रिस्तान में बॉलीवुड के मशहूर एक्टर इरफान खान को भी सुपुर्द-ए-खाक किया गया था. 

वाजिद खान (Wajid Khan) के अंतिम दर्शन से जुड़ी कुछ तस्वीर भी खूब वायरल हो रही है, जिसमें उनके भाई साजिद खान नजर आ रहे हैं. उनकी अंतिम विदाई से जुड़ी यह फोटो विरल भयानी ने अपने इंस्टाग्राम एकाउंट से शेयर की है. फोटो में उनके भाई की आंखे भी नम नजर आ रही हैं. इसके अलावा एक वीडियो भी सबका खूब ध्यान खींच रहा है, जिसमें आदित्य पंचोली भी नजर आ रहे हैं. वाजिद खान के निधन की वजह उनके किडनी की समस्या बताई जा रही है. वह चेंबूर के सुराना सेतिया हॉस्पिटल में करीब 2 महीने से एडमिट थे. इसके साथ की इलाज के दौरान उनका कोरोना टेस्ट भी पॉजिटिव आया था. बताया जा रहा है कि सिंगर करीब एक हफ्ते से कोरोना पॉजिटिव थे.


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बता दें कि बॉलीवुड में साजिद-वाजिद (Sajid-Wajid) की जोड़ी काफी मशहूर थी. उन्होंन सबसे पहले 1998 में सलमान खान की फिल्म 'प्यार किया तो डरना क्या' के लिए संगीत दिया था.  1999 में, उन्होंने सोनू निगम की एल्बम 'दीवाना' के लिए संगीत दिया, जिसमें "दीवाना तेरा", "अब मुझे रात दिन" और "इस कदर प्यार है" जैसे गाने शामिल थे. उसी साल उन्होंने फिल्म 'हैलो ब्रदर' के लिए संगीत निर्देशकों के रूप में काम किया और 'हटा सावन की घाटा', 'चुपके से कोई और' और 'हैलो ब्रदर' जैसे गाने लिखे थे. इसके अलावा वाजिद खान ने कई शो भी जज किये थे.