कोरोनावायरस से जूझ रहे अमिताभ बच्चन को आई अपने बाबूजी की याद, Tweet कर बोले- अस्पताल के अकेलेपन में...

अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) को अस्पताल में आई अपने बाबूजी की याद, एक्टर का ट्वीट हुआ वायरल.

कोरोनावायरस से जूझ रहे अमिताभ बच्चन को आई अपने बाबूजी की याद, Tweet कर बोले- अस्पताल के अकेलेपन में...

अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) का ट्वीट हुआ वायरल

खास बातें

  • अमिताभ बच्चन का ट्वीट हुआ वायरल
  • अस्पताल में अमिताभ बच्चन को आई बाबूजी की याद
  • सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है ट्वीट
नई दिल्ली:

मुंबई के नानावती अस्पताल में कोरोनावायरस (Coronavirus) का इलाज करा रहे सुपरस्टार अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) ट्विटर के जरिए समय-समय पर फैन्स को अपनी तबियत को लेकर जानकारी देते रहते हैं. अमिताभ बच्चन अस्पताल के अनुभवों के साथ, अकेलेपन को लेकर भी कई बाते लिख रहे हैं. अस्पताल में रहते हुए अमिताभ को उनके बाबूजी की बहुत याद आ रही है, इस बात की जानकारी एक्टर ने ट्वीट कर के दी. बॉलीवुड के शहंशाह का यह ट्वीट सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है. इस ट्वीट में अमिताभ बच्चन कह रहे हैं, "बाबूजी की कविता के कुछ पल, वो इसी तरह गाया करते थे कवि सम्मेलनों में."



अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan Twitter) अपने अकेलेपन की बात करते हुए आगे कह रहे हैं, "अस्पताल के अकेलेपन में उनकी बहुत याद आती है, और उन्हीं के शब्दों से अपनी सूनी रातों को आबाद करता हूं." अमिताभ बच्चन का यह ट्वीट खूब वायरल हो रहा है और लोग इस पर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं. अमिताभ बच्चन और उनके बेटे अभिषेक बच्चन को कोरोनावायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद 11 जुलाई को नानावती अस्पताल (Nanavati Hospital) के पृथक वार्ड में भर्ती कराया गया था. अमिताभ ने शनिवार को अपने ब्लॉग में कहा कि इस बीमारी से पैदा हुई मानसिक स्थिति रोगी पर भारी पड़ती है क्योंकि उसे मानवीय संपर्क से दूर रखा जाता है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com



अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) ने कहा: "कोविड-19 (Covid 19) मरीज को अस्पताल के अलग वार्ड में रखा जाता है जिससे वह हफ्तों तक दूसरे लोगों को नहीं देख पाता. नर्स और डॉक्टर इलाज के लिए आते हैं और दवाएं देते हैं लेकिन वे हमेशा पीपीई किट्स पहने दिखाई देते हैं." उन्होंने कहा कि किसी भी मरीज को निजी सुरक्षा उपकरण (पीपीई) पहनने वाले का चेहरा नहीं दिखाई देता क्योंकि स्वास्थ्य देखभाल कर्मी अत्यधिक एहतियात बरतते हैं और इलाज करके चले जाते हैं. अभिनेता ने कहा, "चले जाते हैं क्योंकि लंबे वक्त तक रुकने से संक्रमित होने का डर रहता है. जिस डॉक्टर के मार्गदर्शन में आपका इलाज चल रहा होता है वह कभी आपके पास नहीं आता."