'भाबी जी घर पर हैं' में अंगूरी भाभी हुई प्रग्नेंट, विभूति निकले उनके भैया

'भाबी जी घर पर हैं' में एक बड़ा ट्विस्ट आने वाला है. जिसमें देखने को मिलेगा कि अंगूरी भाबी प्रेग्नेंट होंगी, जबकि शरारती विभूति नारायण उनके भाई के रूप में नजर आएंगे.

'भाबी जी घर पर हैं' में अंगूरी भाभी हुई प्रग्नेंट, विभूति निकले उनके भैया

'भाबी जी घर पर हैं (Bhabi Ji Ghar Par Hai)' में आने वाला बड़ा ट्विस्ट

नई दिल्ली :

एंडटीवी के शो ‘भाबी जी घर पर हैं (Bhabi Ji Ghar Par Hai)' ने अपने मजेदार ट्विस्ट और टर्न्स से हमेशा दर्शकों को खुश किया है. इस शो की आगामी कहानी भी इससे अलग नहीं है और मेकर्स ने दर्शकों को एक बार फिर चौंकाने की योजना बनाई है. सेट से एक सूत्र ने बताया है कि आने वाली कहानी में अंगूरी भाबी (शुभांग अत्रे) प्रेग्नेंट होंगी, जबकि शरारती विभूति नारायण (आसिफ शेख) उनके भाई के रूप में नजर आएंगे.

इस कहानी में अंगूरी तिवारी (रोहिताश्व गौड़) को बताती है कि वह प्रेग्नेंट है और यह खबर सुनकर तिवारी बहुत खुश हो जाते हैं. हालांकि, इसी दौरान तिवारी अंगूरी से यह भी कहते हैं कि काश उनका कोई साला होता, जो उनके बिजनेस को संभालता, ताकि वह अंगूरी के साथ ज्यादा समय बिता पाते. अंगूरी के प्रेग्नेंट होने की खबर फैलते ही उनके पिता भूरे लाल (राकेश बेदी) उसके साथ इसका जश्न मनाने के लिए आ जाते हैं और सबसे बातचीत के दौरान वे बताते हैं कि अंगूरी का जुट्टन नाम का एक भाई था, जो जन्म के ठीक बाद खो गया था. इस बीच मिश्रा हाउस में एक दाई मां हेलेन (प्रतिमा काजमी) को बताती है कि विभूति उनका बेटा नहीं है और बदकिस्मती से विभूति यह बात सुन लेते हैं. अंगूरी की गोद भराई में नाराज विभूति, तिवारी का अपमान करते हैं. और तिवारीजी उन्हें धक्का दे देते हैं और उसे घर से बाहर निकालने की कोशिश करते हैं. लेकिन भूरे को विभूति के गले पर अपनी खानदानी निशानी दिख जाती है और वह दावा करते हैं कि विभूति ही उनका खोया हुआ बेटा और अंगूरी का खोया हुआ भाई जुट्टन है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


शुभांगी अत्रे, यानि अंगूरी भाबी ने कहा, ‘यह सबसे मजेदार और पहेलीनुमा सीक्वेंस है और इसे देखकर दर्शक हंसते-हंसते लोटपोट हो जाएंगे. जब विभूति को पता चलेगा कि अंगूरी उनकी बहन हैं, तब उनकी कसमसाहट देखने लायक होगी." लेकिन क्या यही सच है या तिवारी ने एक और ट्विस्ट वाली कहानी बनाई है, ताकि उन्हें विभूति के रूप में साला मिल सके?