Mother's Day 2021: इन तीन कविताओं के जरिए मां को बोल दीजिए शुक्रिया, ऐसे जाहिर करें अपना प्यार

मदर्स डे के खास मौके पर आप कविता के माध्यम से भी मां के प्रति प्रेम जाहिर कर सकते हैं. हम आपके लिए कुछ ऐसी ही कविताएं लेकर आए हैं जिन्हें आप अपनी मां को समर्पित कर सकते हैं. यहां पढ़ें तीन कविताएं.

Mother's Day 2021: इन तीन कविताओं के जरिए मां को बोल दीजिए शुक्रिया, ऐसे जाहिर करें अपना प्यार

नई दिल्ली:

Mother's Day 2021: हर साल, मई के दूसरे रविवार को मातृ दिवस (Mother's Day) के रूप में मनाया जाता है. इस साल मदर्स डे 9 मई यानी आज मनाया जा रहा है. एक बच्चे के लिए मां क्या होती है. इसकी अहमियत शब्दों में बयां नहीं की जा सकती है.

आपको बता दें, मदर्स डे के खास मौके पर आप कविता के माध्यम से अपनी मां के प्रति प्रेम जाहिर कर सकते हैं. हम आपके लिए कुछ ऐसी ही कविताएं लेकर आए हैं जिन्हें आप अपनी मां को समर्पित कर सकते हैं.  

1) मां आप दोस्त हो

मां आपके अंदर मैंने एक दोस्त पाया है 
जो कभी मुझसे नहीं होता निराश 
जो मुझे कभी नहीं देख सकता उदास 
जिसे मेरे अंदर लगती है हर एक बात खास
जो मुझे खुशी देने के लिए 
दिन- रात करता रहता है प्रयास 

मां... 
कैसे करूं आपका शुक्रिया 
आपने पहले मुझे जीवन दिया 
फिर दुनिया भर की खुशियां 
मुझ पर लुटाकर 
बेशुमार प्यार किया 

मां..
आपने ही तो समझाया
लड़कियां होती है
भविष्य की ठंडी छाया 
आपकी वजह से मेरा आत्मविश्वास
कभी कमजोर न हो पाया

मां, 
समाज ने हर मोड़ पर 
हम लड़कियों को धमकाया-डराया
जो कभी टूटता था हौसला
आपने ही आगे हाथ बढ़ाया

मैंने भगवान नहीं देखा मां 
पर, हर मुश्किल मोड़ पर 
आपको ही पाया
मां कैसे करूं 
आपका शुक्रिया 
जो जीवन तुमने मुझे दिया. 


2) मां के हाथ का खाना 


काम करते- करते थक जाता हूं 
कभी- कभी भूखा ही सो जाता हूं 
मैगी बनाने में आता है आलस
कभी कभी थैली वाला दूध भी 
बिना गर्म किए ठंडा पी जाता हूं 
मां उस वक्त आती है 
आपके हाथ के खाने की याद 

दो वक्त की रोटी के खातिर 
आपके घर की दहलीज
पार कर चुका हूं 
सच कहूं मां...
वापस आना चाहता हूं 
पर.. यहां काम के बोझ से दब चुका हूं 

शहर आए हुए मां हो चुके हैं करीब 8 साल 
लेकिन आज भी नहीं बदला आपका सवाल 
"बेटा खाना खा लिया"?

उस वक्त सोचता हूं
काश आप होती मेरे साथ 
मां बहुत ज्यादा आती है
आपके हाथ के खाने की याद 

3) मां जैसा बन रही हूं 

जैसे आप संभालती हो घर 
वैसे ही सीख रही हूं 
मां, शादी के बाद 
आप जैसा बनने की 
कोशिश कर रही हूं 

जो कुछ सीखाया आपने
अब जीवन में आपकी
सीख से आगे बढ़ रही हूं
मां, शादी के बाद
आप जैसा बनने की
कोशिश कर रही हूं


ससुराल में आप नहीं हो मेरे साथ 
अब अपनी हर परेशानी
खुद ही हल करती हूं 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


मां जानकर खुश हो जाओगे आप
मैं सब कुछ अच्छे से 
मैनेज कर रही हूं 
मां सच तो ये है 
मैं इन दिनों 
आप जैसा बनने की 
कोशिश कर रही हूं