NDTV की खबर का असर, रेलवे ने RRC Group D के 4 लाख एप्लीकेशन रिजेक्ट मामले पर जारी किया नोटिस

RRB Group D के 4 लाख एप्लीकेशन रिजेक्ट मामले पर रेलवे ने आरआरबी वेबसाइट्स पर नोटिस जारी कर दिया है.

NDTV की खबर का असर, रेलवे ने RRC Group D के 4 लाख एप्लीकेशन रिजेक्ट मामले पर जारी किया नोटिस

RRC Group D: ग्रुप डी के उम्मीदवारों की मांग है कि मॉडिफिकेशन लिंक एक्टिव किया जाए.

RRB Group D: रेलवे भर्ती बोर्ड ने ग्रुप डी के एप्लीकेशन रिजेक्ट (RRC Group D Application Reject) मामले पर नोटिस जारी कर दिया है. NDTV की खबर का असर होने के बाद रेलवे को आरआरबी वेबसाइट पर नोटिस जारी करना पड़ा. रेलवे भर्ती बोर्ड (Railway Recruitment Board) की वेबसाइट पर जारी नोटिस में लिखा है, ''फोटो और साइन के आधार पर जिन उम्मीदवारों के एप्लीकेशन रिजेक्ट किए गए हैं उनकी शिकायत हमें मिली हैं और हम उन सभी एप्लीकेशन की जांच कर रहे हैं. अंतिम निष्कर्ष हर उम्मीदवार को ईमेल और एसएमएस के माध्यम से 31 अगस्त 2019 तक सूचित कर दिया जाएगा. सभी उम्मीदवारों को ये सलाह दी जाती है कि वे RRB की ऑफिशियल वेबसाइट्स को रेगुलर चेक करते रहें.

RRB Notice

बता दें कि 10 अगस्त 2019 को एनडीटीवी ने ये खबर प्रकाशित की थी कि रेलवे ने 4 लाख एप्लीकेशन रिजेक्ट मामले पर अब तक कोई जवाब नहीं दिया है. इस खबर के प्रकाशित होने के दूसरे दिन रेलवे ने 11 अगस्त की शाम को आरआरबी वेबसाइट पर नोटिस जारी किया. एप्लीकेशन स्टेटस चेक करने का आखिरी दिन 31 जुलाई था. 4 लाख उम्मीदवारों के एप्लीकेशन रिजेक्ट किए गए लेकिन रेलवे ने इस पर 10 दिन होने तक कोई नोटिस नहीं निकाला था. ऐसे में उम्मीदवार काफी परेशान थे और एनडीटीवी को मेल और फोन कर रहे थे. 

उम्मीदवारों के एप्लीकेशन रिजेक्ट होने पर रेलवे (RRB) का कहना है कि इनवैलिड फोटो और साइन के चलते उम्मीदवारों के एप्लीकेशन रिजेक्ट किए गए हैं. वहीं उम्मीदवारों का दावा है कि उनकी फोटो सही थी फिर भी उनकी एप्लीकेशन रिजेक्ट कर दी गई. इस मामले पर रेलवे भर्ती बोर्ड के एक वरिष्ठ अधिकारी ने एनडीटीवी को बताया था कि रेलवे 1 अगस्त से एप्लीकेशन की जांच करेगा.

RRB RRC Group D: 4 लाख एप्लीकेशन रिजेक्ट मामले पर रेलवे ने अब तक नहीं दिया कोई जवाब

अधिकारी ने कहा था कि बोर्ड को शिकायतों की जांच करने में एक सप्ताह का समय लग सकता है. अगर शिकायतों की संख्या ज्यादा हुई तो और भी समय लग सकता है. उन्होंने कहा था कि जांच के बाद ही रेलवे को यह पता चल पाएगा कि गलती रेलवे की है या उम्मीदवारों की. अगर रेलवे की तरफ से कोई गलती पाई जाती है तो रेलवे उम्मीदवारों को एप्लीकेशन में सुधार करने के लिए मॉडिफिकेशन लिंक देगा. 

आपको बता दें कि रेलवे ग्रुप डी के 1 लाख से ज्यादा पदों पर भर्ती करेगा. इन पदों पर भर्ती के लिए 1 करोड़ 15 लाख लोगों ने आवेदन किया है, इनमें से 4 लाख के एप्लीकेशन रिजेक्ट हुए हैं.


RRB JE Result 2019: जूनियर इंजीनियर रिजल्ट में हुई देरी, उम्मीदवारों ने कि जल्द रिजल्ट जारी करने की मांग

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com